• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Gehlot's Three Ministers Failed Two Passes, Congress Lost In The Areas Of 4 Independent MLAs Supporting CM, BJP Away From Majority In Satish Poonia's Area

पंचायतीराज चुनाव में कांग्रेस-बीजेपी के कई दिग्गज फेल:गहलोत के तीन मंत्री फेल-दो पास, सीएम समर्थक 4 निर्दलीय विधायकों के क्षेत्रों में हारी कांग्रेस, सतीश पूनिया के क्षेत्र में बीजेपी बहुमत से दूर

जयपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पंचायतीराज चुनावों में बढ़त के बाद प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय के बाहर आतिशबाजी। - Dainik Bhaskar
पंचायतीराज चुनावों में बढ़त के बाद प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय के बाहर आतिशबाजी।

पंचायत चुनाव के नतीजों में कांग्रेस साख बचाने में कामयाब रही है, लेकिन कई मंत्री और विधायक सियासी साख नहीं बचा पाए। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सरकार के तीन मंत्री पंचायतीराज चुनाव में फेल हो गए हैं। दो मंत्री अपने क्षेत्रों में कांग्रेस का बोर्ड बनाने में कामयाब रहे हैं। इस बार स्थानीय विधायकों की सिफारिश पर ही कांग्रेस-बीजेपी ने टिकट दिए थे। बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया के क्षेत्र में आमेर और जालसू दोनों पंचायत समितियों में उनकी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है। जिला परिषद चुनावों में कांग्रेस सिरोही और भरतपुर में बोर्ड नहीं बना सकी।

मंत्री राजेंद्र यादव, भजनलाल जाटव और सुभाष गर्ग के इलाकों की पंचायत समितियों में कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है। इन तीन मंत्रियों के इलाकों में निर्दलीय निर्णायक हैं। जयपुर जिले में कृषि मंत्री लालचंद कटारिया, दौसा में सहकारिता मंत्री परसादीलाल मीणा के इलाकों में कांग्रेस को बहुमत मिला है। महिला बाल विकास मंत्री ममता भूपेश के इलाके की एक पंचायत समिति सिकराय में कांग्रेस को बहुमत मिला है, ज​बकि सिकंदरा में निर्दलीय निर्णायक हैं। गहलोत समर्थक चार निर्दलीय विधायकों के क्षेत्रों में कांग्रेस हार गई है। सिरोही से निर्दलीय संयम लोढ़ा, दूदू से बाबूलाल नागर, गंगापुर से निर्दलीय रामकेश मीणा और महवा से निर्दलीय ओमप्रकाश हुड़ला के क्षेत्रों में कांग्रेस हार गई है।

जयपुर में एक मंत्री फेल एक पास
जयपुर जिले में झोटवाड़ा विधायक और कृषि मंत्री लालचंद कटारिया के इलाके झोटवाड़ा और जोबनेर में कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत मिला है। चाकसू से पायलट समर्थक विधायक वेदप्रकाश सोलंकी, विराटनगर से इंद्राज गुर्जर के क्षेत्र में एक-एक पंचायत समिति में स्पष्ट बहुमत मिला है। जमवारामगढ़ से गोपाल मीणा के क्षेत्र में एक जगह बहुमत मिला है। गहलोत समर्थक दूदू से निर्दलीय बाबूलाल नागर के क्षेत्र की दोनों पंचायत समितियों में कांग्रेस हार गई है। शाहपुरा से निर्दलीय आलोक बेनीवाल और बस्सी से निर्दलीय लक्ष्मण मीणा सियासी साख बचाने में सफल रहे हैं।

कांग्रेस को बहुमत
लालसोट विधायक और सहकारिता मंत्री परसादीलाल मीणा के क्षेत्र लालसोट में दोनों पंचायत समितियों में कांग्रेस को बहुमत मिला है। सिकराय से विधायक महिला बाल विकास मंत्री ममता भूपेश के क्षेत्र में एक ही जगह बहुमत मिला है। दौसा विधायक मुरारीलाल मीणा, बांदीकुई विधायक जीआर खटाणा अपने क्षेत्र में बहुमत दिलाने में कामयाब रहे हैं। महवा से निर्दलीय विधायक ओमप्रकाश हुड़ला के क्षेत्र में कांग्रेस को बहुमत नहीं मिला।

सवाईमाधोपुर में दो विधायक फेल, दो पास

बामनवास से कांग्रेस विधायक इंदिरा मीणा के क्षेत्र में दोनों जगह कांग्रेस का बोर्ड नहीं बना है। उनके इलाके में बीजेपी आगे है। खंडार से विधायक अशोक बैरवा के क्षेत्र में दोनों जगह खंडार और चौथ का बरवाड़ा में कांग्रेस को बहुमत मिला है। सवाईमाधोपुर विधायक दानिश अबरार के क्षेत्र में एक जगह सवाईमाधोपुर में बहुमत मिला है, जबकि मलारना डूंगर में निर्दलीय निर्णायक हैं। गंगापुर सिटी से गहलोत समर्थक निर्दलीय विधायक रामकेश मीणा के क्षेत्र गंगापुर सिटी में कांग्रेस को बहुमत नहीं मिला है।

भरतपुर में सब जगह निर्दलीयों का बोलबाला

भरतपुर में सभी विधायक सत्ताधारी पार्टी के है, लेकिन अपने इलाकों में कांग्रेस के सिंबल पर कहीं भी बहुमत नहीं दिलवा सके। भरतपुर में सब जगह निर्दलीयों का बोलबाला है। वैर से विधायक और राज्य मंत्री भजनलाल जाट, भरतपुर से आरएलडी विधायक और मंत्री सुभाष गर्ग, पूर्व मंत्री और डीग कुम्हेर विधायक विश्वेंद्र सिंह, नगर विधायक वाजिब अली, कामां विधायक जाहिदा खान, बयाना विधायक अमर सिंह जाटव के क्षेत्रों में निर्दलीयों का बाहुल्य है। भरतपुर के नेताओं का कहना है कि जीते हुए निर्दलीय कांग्रेस के पक्ष में जाएंगे। उन्होंने रणनीति के तहत बिना सिंबल चुनाव लड़वाए थे।

सिरोही में 5 में से 4 जगह हारी कांग्रेस

सिरोही में गहलोत समर्थक निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा के क्षेत्र की दोनों पंचायत समितियों में कांग्रेस हार गई है, वहीं बीजेपी का बहुमत आया है। सिरोही की 5 पंचायत समितियों में से केवल आबूरोड में ही कांग्रेस का बहुमत आया है। बाकी चार जगह बीजेपी को बहुमत मिला है।

खबरें और भी हैं...