जयपुर में कांग्रेस नेता की बेटी किडनैप:फोन किया- पापा, लड़के पीछा कर रहे, जल्दी आ जाओ, एयरपोर्ट रोड पर मिली स्कूटी

जयपुर2 महीने पहले

जयपुर में कांग्रेस नेता गोपाल केसावत की बेटी के किडनैपिंग का चौंकाने वाला मामला सामने आया है। वारदात के समय बेटी ने केसावत को फोन भी किया। कहा, 'कुछ लड़के पीछा कर रहे हैं। पापा, जल्दी आ जाओ।'

केसावत ने सोमवार देर रात प्रताप नगर थाने में अज्ञात बदमाशों के खिलाफ बेटी को अपहरण करने का मामला दर्ज कराया है। उधर, सीएसटी और पुलिस टीमें​​​​ अभिलाषा केसावत (21) की तलाश में जुट गई हैं।

रिपोर्ट में बताया गया कि अभिलाषा स्कूटी से सब्जी लेने के लिए एनआरआई सर्किल तक गई थी। वापस नहीं लौटी तो परिवार ने ढूंढना शुरू किया। जब कुछ पता नहीं लगा तो रात को थाने में मामला दर्ज कराया। इस बीच मंगलवार सुबह स्कूटी एयरपोर्ट रोड पर लावारिस खड़ी हुई मिली है।

प्रतापनगर सीआई भजन लाल ने बताया कि मामले की गंभीरता को देखते हुए हर पहलू पर जांच की जा रही है। वारदात स्थल के आसपास लगे हुए सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को खंगाला जा रहा है।

मंगलवार दोहपर को गोपाल केसावत अपने समर्थकों के साथ बेटी की तस्वीर लेकर जयपुर कमिश्नरेट पहुंचे। उन्होंने बताया कि बेटी के किडनैप होने के बाद उसके मोबाइल पर कई बार फोन किया। मोबाइल स्विच ऑफ है।
मंगलवार दोहपर को गोपाल केसावत अपने समर्थकों के साथ बेटी की तस्वीर लेकर जयपुर कमिश्नरेट पहुंचे। उन्होंने बताया कि बेटी के किडनैप होने के बाद उसके मोबाइल पर कई बार फोन किया। मोबाइल स्विच ऑफ है।

फूट-फूट कर रोने लगे पिता

केसावत ने एडिशनल पुलिस कमिश्नर अजयपाल लांबा को ज्ञापन देकर जल्द से जल्द बेटी को ढूंढने की मांग की। कमिश्रनर से मुलाकात के दौरान वे भावुक हो गए। उनके साथ आए परिवार के लोग भी बेटी को जल्द से जल्द ढूंढने की गुहार करते हुए रोने लगे।

केसावत ने कहा कि अगर किसी वीवीआईपी की बेटी या डॉग होता तो उसका सीसीटीवी मिल जाता। 15 घंटे में हमें फुटेज या लोकेशन तक ट्रेस करके नहीं बताया गया है। अधिकारियों से मांग है कि बेटी को सकुशल लेकर आए। कुछ संदिग्ध लोगों के नाम भी मैंने इंचार्ज को बताए हैं। दो-तीन महीने पहले मेरी गाड़ी के भी शीशे तोड़े गए थे। मैंने पहले भी सुरक्षा मांगी थी।

केसावत ने कहा- बेटी ने बताया था, कुछ लोग पीछा कर रहे हैं

गोपाल केसावत ने पुलिस को बताया, 'अभिलाषा सोमवार शाम को 5:30 बजे घर से निकली थी। इसके बाद 6:05 पर उसने मुझे फोन कर कहा- 'पापा, मेरे पीछे लड़के पड़ गए, तुरंत गाड़ी लेकर आओ।' इस पर परिवार के अन्य सदस्यों के साथ मैं तुरंत गाड़ी लेकर एनआरआई सर्किल के पास पहुंचा।

तब वहां पर न तो उनको बेटी मिली और न ही उसकी स्कूटी। बेटी को फोन लगाया तो उसका मोबाइल स्विच ऑफ आया। इसके बाद अपने रिश्तेदारों व परिचितों के साथ मिलकर आसपास का पूरा इलाका छान मारा, लेकिन कहीं पर भी बेटी का कोई सुराग नहीं मिला।' इसके बाद देर रात प्रतापनगर थाने पहुंचकर मामला दर्ज कराया गया।

पिता ने ही स्कूटी ढूंढकर निकाली

जिस स्कूटी पर अभिलाषा सब्जी लेने गई थी, उस स्कूटी को आज सुबह गोपाल ने ही एयरपोर्ट रोड पर लावारिस खड़ा हुआ ढूंढा है। फिलहाल पुलिस एनआरआई सर्किल के साथ-साथ जिस स्थान पर स्कूटी बरामद हुई है, वहां तक लगे तमाम सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को खंगाल रही है। केसावत गहलोत की पिछली सरकार में राजस्थान घुमंतू बोर्ड के अध्यक्ष रह चुके हैं। साथ ही घुमंतू प्रकोष्ठ का अध्यक्ष रह चुके हैं। इसके साथ कांग्रेस में काफी लंबे समय से एक्टिव हैं।

मोबाइल लोकेशन ट्रेस करने का प्रयास
एडिशनल कमिश्नर अजय पाल लांबा ने बताया- घटना की जानकारी मिलने के बाद में डीएसपी और सीएसटी की टीम को बच्ची को सर्च करने में लगा दिया गया है। शिकायतकर्ता ने जिस लोकेशन के बारे में पुलिस को जानकारी दी, उस लोकेशन पर लगे हुए सीसीटीवी कैमरे को भी खंगाला गया। वहां से कोई जानकारी हाथ नहीं लगी है। लड़की के मोबाइल की लोकेशन को ट्रेस करने का प्रयास किया जा रहा है। अभी तक इस संबंध में किसी प्रकार की कोई लीड नहीं मिली है। हर एंगल पर जांच की जा रही है।

ये भी पढ़ें

जयपुर के करोड़पति बिजनेसमैन ने लिखा- मुझे बर्बाद कर दिया:बेटे को पर्स में मिला पापा का सुसाइड नोट; पुलिस जांच पर उठाए सवाल

जयपुर में बिजनेसमैन के खुद काे गोली मारकर खुदकुशी मामले में 5 दिन बाद अब एक सुसाइड नोट सामने आया है। सोने-चांदी का बिजनेस करने वाले कारोबारी ने लिखा- 'मैं, मनमोहन सोनी आत्महत्या कर रहा हूं... इसके जिम्मेदार सत्यार्थ तिवाडी, अनी भारद्वाज व लोकराज पारीक हैं। इन्होंने मुझे बर्बाद कर दिया।' मनमोहन को जान देने पर मजबूर करने वाले ये किरदार वही हैं, जो ब्याज पर फाइनेंस का धंधा चलाते हैं। (पूरी खबर पढ़ें)