सियासी वादे का क्या?:सरकार के 34 महीने पूरे... लेकिन महिलाओं काे नहीं मिले हर जिले में आईटीआई और पॉलिटेक्निक काॅलेज

जयपुरएक वर्ष पहलेलेखक: अर्पित शर्मा
  • कॉपी लिंक
  • विभाग का तर्क- हर साल सीटें रहती हैं खाली, इसलिए पुराने कॉलेजों में अलग ब्रांच खोलने की है प्लानिंग

प्रदेश के हर जिले में महिलाओं के लिए आईटीआई और पॉलिटेक्निक काॅलेज खाेलने की कांग्रेस सरकार की चुनावी घोषणा अभी तक धरातल पर नही आई है। सरकार ने जन घोषणा पत्र में इसे शामिल किया था, लेकिन अभी सिर्फ 10 जिलाें में महिला आईटीआई काॅलेज हैं, वहीं 8 जगह महिला पॉलिटेक्निक काॅलेज चल रहे हैं। दिसंबर में सरकार काे तीन साल हाेने वाले हैं, लेकिन अभी तक महिला शिक्षा काे लेकर की गई यह घोषणा कागजों से बाहर नही आई है। प्रदेश में 1715 प्राइवेट और 250 सरकारी आईटीआई काॅलेज चल रहे हैं। विभाग का कहना है कि महिलाओं के लिए काॅलेज खाेलने के लिए सरकार काे प्रस्ताव भेज दिया गया था।

10 महिला आईटीआई काॅलेज
प्रदेश में अजमेर, अलवर, बांसवाड़ा, भीलवाडा, बीकानेर, जयपुर, जाेधपुर, काेटा, सीकर, उदयपुर में महिला आईटीआई काॅलेज हैं। प्रदेश के प्राइवेट आईटीआई काॅलेजाें में करीब 3 लाख और सरकारी के 1 लाख मिलाकर करीब 4 लाख सीटें हैं। फिलहाल इनमें एडमिशन प्रक्रिया चल रही है।

8 महिला पॉलिटेक्निक काॅलेजों में हैं 1180 सीटें
आईटीआई काॅलेजाें के अलावा हर जिले में महिलाओं के लिए अलग से पॉलिटेक्निक काॅलेज शुरू करने की भी घोषणा की गई थी। अब विभाग का कहना है कि हर साल सीटें खाली रह रही है। ऐसे में अब महिलाओं के लिए अलग पॉलिटेक्निक काॅलेज खाेलने की बजाय पुराने काॅलेजाें में ही महिलाओं के लिए अलग ब्रांच खाेलने की प्लानिंग है। जिसके लिए सरकार काे प्रस्ताव भेजा जाएगा। प्रदेश में 48 सरकारी और 86 प्राइवेट पॉलिटेक्निक काॅलेज चल रहे हैं। इनमें महिलाओं के लिए 8 सरकारी पॉलिटेक्निक काॅलेज ही हैं, जिनमें 1180 सीटें हैं। वहीं सभी काॅलेजाें में मिलाकर करीब 30 हजार सीटें हैं। इस साल 4 सरकारी नए काॅलेज खुले हैं।

23 जिलाें में महिला आईटीआई काॅलेजाें के भवनाें के लिए अनुमानिक लागत का प्रस्ताव भेजा हुआ है। जाे प्रशासनिक विभाग स्तर पर लंबित है।-एन के गुप्ता, डायरेक्टर आईटीआई

पॉलिटेक्निक काॅलेजाें में पिछले सालाें में एडमिशन में सीटें खाली रह रही हैं। इस ट्रेंड काे देखते हुए नए महिला काॅलेज की बजाय पुराने काॅलेजाें में ही महिलाओं के लिए अलग ब्रांच खाेलने का प्रस्ताव सरकार काे भेजेंगे। -पी सी मकवाना, डायरेक्टर टेक्निकल एजुकेशन (पाॅलिटेक्निक)

खबरें और भी हैं...