पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लापरवाही:सरकार ने डीसी लगाए, सीईओ ने पहले वाले पद पर काम करने के आदेश दिए

जयपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दाे माह में पुराने पुलिस मुख्यालय में निगम ने एक भी कमरा तैयार नहीं किया
  • निगम में 60 दिन बाद भी काम का बंटवारा नहीं

(ओमप्रकाश शर्मा) हाईकाेर्ट की दखल के बाद भले ही सरकार ने ग्रेटर नगर निगम व हैरिटेज नगर में दाे सीईओ लगा दिए है। लेकिन दाे माह से लाॅक डाउन खुलने के बाद भी दाेनाें निगम के कामकाज का बंटवारा अफसर कागजाें में ही करके खानापूर्ति कर रहे है। अभी तक अफसराें ने मुख्यालय व जाेन स्तर फाइलाें की स्क्रुटनी ही नहीं की है। हैरिटेज नगर निगम के मुख्यालय (पुराना पीएचक्यू) में एक भी अफसर के लिए बैठने के लिए ऑफिस तैयार नहीं किया गया है।

जबकि दाे माह पहले जाेन स्तर पर एक कराेड़ रुपए और निगम मुख्यालय स्तर पर ढ़ाई कराेड़ रुपए का सिविल कार्याे के लिए टैंडर हाे चुके है। खास बात यह है कि सरकार ने हैरिटेज निगम व ग्रेटर निगम ने एक आदेश जारी करके उपायुक्त लगा दिए थे। इन अफसराें काे अलग-अलग काम शुरू करना था। लेकिन निगम के सीईओ दिनेश यादव ने एक आदेश जारी करके सभी अधिकारियाें काे आगामी आदेशाें तक माैजूदा पदाे पर ही काम करने के आदेश जारी कर दिए है। दाेनाें निगम के ज्यादातर मामलाें में ग्रेटर सीईओ की दखल रहती है।

अभी सिविल कार्यों के लिए ही टेंडर
निगम के विभाजन के बाद ग्रेटर में जगतपुरा जाेन, आदर्शनगर, मालवीयनगर, मुरलीपुरा और झाेटवाड़ा जाेन नए बने है। हैरिटेज निगम में किशनपाेल जाेन बनाया गया है। चार माह पहले नए जाेन बनाने के लिए गजट नाेटिफिकेशन जारी हाे गया था। लेकिन अभी तक नए जाेन में कार्यालय ही नहीं बने है। हाल ही में निगम मुख्यालय ने अभी तक महज नए जाेन कार्यालयाें के सिविल कार्याें के लिए टेंडर जारी किए है।

^दाेनाें निगम के कामकाज का विभाजन चल रहा है। सरकार ने डीसी लगा दिए थे, लेकिन नीचे वाले कर्मचारी-अफसराें का विभाजन हुआ नहीं हुआ ताे पहले वाले पद पर फिलहाल काम करने के लिए आदेश निकाले थे। दाे-चार दिन में विभाजन कर देंगे। - दिनेश यादव, सीईओ, ग्रेटर नगर निगम जयपुर

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां आपको कई सुअवसर प्रदान करने वाली हैं। इनका भरपूर सम्मान करें। कहीं पूंजी निवेश करने के लिए सोच रहे हैं तो तुरंत कर दीजिए। भाइयों अथवा निकट संबंधी के साथ कुछ लाभकारी योजना...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser