RSS कल, आज और कल व्याख्यान में बोले- दत्तात्रेय होस्बोले:संघ ने हर दर्द को सहा और कहा- एन्जॉय द पेन

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दत्तात्रेय होस्बाले, सरकार्यवाह RSS

जयपुर के बिरला ऑडिटोरियम में दीनदयाल स्मृति व्याख्यान का आयोजन किया गया। जिसमें राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के कार्यवाहक दत्तात्रेय होस्बोले मुख्य वक्ता के तौर पर मौजूद रहे। इस दौरान होस्बोले ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ कल, आज और कल विषय पर अपनी बात रखी।

होस्बोले ने कहा कि संघ ने हर दर्द को सहा और कहा एन्जॉय द पेन। आज राष्ट्र जीवन के केंद्र बिंदु पर संघ है। संघ व्यक्ति निर्माण और समाज निर्माण के कार्य करता रहेगा। समाज के लोगो को जोड़कर समाज के लिए काम करेगा। आज संघ के एक लाख सेवा कार्य चलते हैं। संघ एक जीवन पद्धति और कार्य पद्धति है। संघ एक जीवन शैली है और संघ आज एक आंदोलन बन गया है। हिंदुत्व के सतत विकास के आविष्कार का नाम RSS है।

होस्बोले ने कहा कि संघ को समझने के लिए दिमाग नहीं दिल चाहिए।केवल दिमाग से काम नहीं चलेगा, क्योंकि दिल और दिमाग बनाना ही संघ का काम है। यही वजह है कि आज संघ का प्रभाव भारत के राष्ट्रीय जीवन में है। देश में लोकतंत्र की स्थापना में RSS की भूमिका रही। ये बात विदेशी पत्रकारों ने लिखी थी।

तमिलनाडु में मतांतरण के विरुद्ध हिन्दू जागरण का शंखनाद हुआ था। उन्होंने संघ के संघर्ष काल को बताया कि किस तरह से संघर्ष के दौर से संघ गुजरा। उस दौर का किया जिक्र जब पत्रकार संघ के कहने से खबर तक नहीं छापते थे। लेकिन आज संघ छपता है। तो अखबार बिकता है। देश में संघ के सैंकड़ो लोगों की हत्याएं हुई। लेकिन संघ के कार्यकर्ता डरे नहीं है। संघ सिर्फ राष्ट्र हित में काम करने वाला है, और हम नेशनलिस्ट हैं।