दरें नहीं बढ़ेंगी:होटल और गेस्ट हाउस को अब इंडस्ट्रीज टैरिफ से मिल सकेगी सस्ती बिजली

जयपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चार्जिंग व बड़े औद्योगिक श्रेणी में टीओडी छूट 15 से 10% का प्रस्ताव - Dainik Bhaskar
चार्जिंग व बड़े औद्योगिक श्रेणी में टीओडी छूट 15 से 10% का प्रस्ताव

प्रदेश में इस वित्तीय साल 2022-23 में बिजली की रेट नहीं बढ़ेगी। प्रदेश में अब पर्यटन से जुड़े होटल व गेस्ट हाउस को इंडस्ट्रीज टैरिफ से सस्ती बिजली दी जाएगी। फिलहाल इन्हें अघरेलू श्रेणी की टैरिफ से महंगी बिजली दी जा रही है। जयपुर डिस्काॅम, जोधपुर व अजमेर डिस्कॉम ने मौजूदा वित्तीय साल के लिए राजस्थान विद्युत विनियामक आयोग (आरईआरसी) में टैरिफ पिटीशन व एआरआर दाखिल की है।

पिटीशन में विद्युत वाहन चार्जिंग स्टेशन व वृहद औद्योगिक श्रेणी के उपभोक्ताओं के लिए टीओडी (टाइम आॅफ डे) छूट 15 प्रतिशत से घटाकर 10 प्रतिशत करने का प्रस्ताव रखा है। टाइम आॅफ डे में रात 11 से सुबह 6 बजे तक काम में लेने पर अब 10 प्रतिशत की छूट मिल पाएगी। पिछली बार फरवरी 2020 में आरईआरसी ने करीब 11 प्रतिशत बिजली टैरिफ में बढ़ोत्तरी की थी।

2021 व 2022 में टैरिफ में कोई बढ़ोत्तरी नहीं की। आम उपभोक्ता टैरिफ पिटीशन की काॅपी विद्युत भवन हैडक्वार्टर व सर्किल अधीक्षण अभियंता कार्यालयों से ले सकते हैं। जयपुर डिस्कॉम की पिटिशन पर 19 व 20 अप्रेल को विद्युत भवन में ऑडियो विजुअल प्रजेंटेशन होगा। प्रजेंटेशन में आने वाले उपभोक्ता को 15 अप्रेल तक जयपुर डिस्कॉम को सूचना देनी होगी।

बड़े उद्योगों को मिलेगा फायदा
एमआईपी व एलआईपी में बिजली उपभोग का बेस ईयर 2018-19 है। बिजली उपभोग की बढ़ोत्तरी की छूट मिलती है। अब बिजली उपभोग की बढ़ोत्तरी की छूट पिछले साल को बेस ईयर माने जाने का प्रस्ताव है।

हर साल 1477 करोड़ का घाटा
जयपुर डिस्कॉम में इस वित्तीय साल 25 हजार 692 करोड़ का खर्चा होना प्रस्तावित है। इसमें से 16 हजार 417 करोड़ रुपए बिजली खरीद पर ही खर्चा होगा। जबकि बिजली बिल से डिस्कॉम को 23 हजार 424 करोड़ का रेवेन्यू मिलेगा तथा 791 करोड़ रुपए सरकार से सब्सिडी की राशि मिलेगी। इसके बावजूद भी 1477 करोड़ का घाटा हो जाएगा।

खबरें और भी हैं...