राजस्थान में शादीशुदा महिला-पुरुषों पर सबसे बड़ा सर्वे:SEX के लिए मना करने पर मिलती है सजा, पति से बहस पर पिटाई

जयपुर3 महीने पहलेलेखक: रणवीर चौधरी

NO MEANS NO… उसे बोलने वाली लड़की कोई परिचित हो, दोस्त हो, गर्लफ्रेंड हो, कोई सेक्स वर्कर हो या आपकी पत्नी ही क्यों नहीं हो। जब वो ना कहे तो आपको रुक जाना चाहिए। पिंक फिल्म के इस डायलॉग का सार था- ना का मतलब ना होता है। लेकिन क्या हकीकत में ना का मतलब ना ही होता है? जी नहीं।

ना का मतलब होता है…
पति घर खर्च के लिए रुपए नहीं देगा…किसी दूसरी औरत के पास जाएगा…या कोई दूसरी औरत नहीं मिली तो पत्नी के साथ ही रेप करेगा। ये चौंकाने वाला खुलासा हुआ है नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे-5 (2019-21) में। मिनिस्ट्री ऑफ फैमिली हेल्थ वेलफेयर और इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ पॉपुलेशन साइंस की ओर से राजस्थान सहित देशभर में कराए गए इस सर्वे में 724,115 महिलाओं और 101,839 पुरुषों को शामिल किया गया। हाल ही में इसकी 712 पन्नों की रिपोर्ट जारी हुई है। भास्कर ने पूरी सर्वे रिपोर्ट के एक-एक पेज की बारीकी से स्टडी की। सर्वे का एक अहम पहलू था पति-पत्नी के रिलेशन।

सर्वे में कई चिंताजनक फैक्टर सामने आए जैसे- पत्नी के सामने मारपीट की सबसे बड़ी दो वजह होती हैं- ससुराल वालों की इज्जत न करना और पति से बहस करना। पत्नी की उम्र कम है तो पति का शक और जलन बढ़ जाती है। सर्वे में जो सबसे उम्मीद की बात थी वो ये कि 78.3 % पुरुषों का मानना है कि पत्नी अगर सेक्स के लिए मना करती है तो यह उसका हक है।

इस बार संडे बिग स्टोरी में पढ़िए पति-पत्नी से जुड़े सर्वे का सबसे बड़ा एनालिसिस....

ग्राफिक्स- तरुण शर्मा

खबरें और भी हैं...