• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • If You Are Unable To Stop Copying, Then It Is Announced – Patwari Recruitment Examination Will Not Be Conducted In 10 Districts

सिस्टम का सरेंडर:नकल नहीं रोक पा रहे तो ऐलान किया- 10 जिलों में नहीं कराएंगे पटवारी भर्ती परीक्षा

जयपुर2 महीने पहलेलेखक: विनोद मित्तल
  • कॉपी लिंक
परीक्षा के सफल आयोजन के लिए चयन बोर्ड ने 3 साल पहले आयोजित खुद की एलडीसी भर्ती परीक्षा-2018 की तर्ज पर यह निर्णय लिया है। - Dainik Bhaskar
परीक्षा के सफल आयोजन के लिए चयन बोर्ड ने 3 साल पहले आयोजित खुद की एलडीसी भर्ती परीक्षा-2018 की तर्ज पर यह निर्णय लिया है।

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की रीट और राजस्थान लोक सेवा आयोग की एसआई भर्ती परीक्षाओं में उठे पेपर लीक विवाद के बाद अब राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड ने पटवारी भर्ती परीक्षा-2021 को लेकर बड़ा निर्णय लिया है। प्रदेश के 10 जिलों को इस भर्ती की परीक्षा के आयोजन से बाहर कर दिया गया है यानी इन जिलों में पटवारी भर्ती के परीक्षा केंद्र नहीं होंगे।

चयन बोर्ड ने पिछली भर्ती परीक्षाओं का अध्ययन कराया तो सामने आया कि ये ऐसे 10 जिले हैं, जहां अक्सर नकल व पेपर लीक के मामले आते रहे हैं। इसलिए इन्हें बाहर कर दिया गया। अब ये परीक्षा 23 जिलों में ही होगी।

इन जिलों के अभ्यर्थियों को नजदीकी जिलों में भेजेंगे...
बाहर किए गए इन 10 जिलों के अभ्यर्थियों को नजदीकी जिलों में परीक्षा केंद्र दिया जाएगा। परीक्षा के सफल आयोजन के लिए चयन बोर्ड ने 3 साल पहले आयोजित खुद की एलडीसी भर्ती परीक्षा-2018 की तर्ज पर यह निर्णय लिया है। पटवारी भर्ती के लिए 15.62 लाख अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है।

3 साल पहले 2018 में बोर्ड ने एलडीसी भर्ती परीक्षा कराई थी। तब 13 जिलों में परीक्षा नहीं हुई थी। साथ ही एलडीसी भर्ती परीक्षा 4 चरणों में कराई गई थी। उसी तर्ज पर पटवारी भर्ती परीक्षा भी 4 चरणों में कराई जाएगी।

ये हैं वे 10 जिले, जहां परीक्षा केंद्र नहीं होंगे

1. बाड़मेर 2. चूरू 3. धौलपुर 4. जैसलमेर 5. जालोर 6. झुंझुनूं 7. करौली 8. पाली 9. प्रतापगढ़ 10. सीकर।

और असर ये कि... 15.62 लाख अभ्यर्थी अब सिर्फ 23 जिलों में परीक्षा देंगे। यानी उनकी दिक्कत बढ़ेगी।

ध्यान रखें...पानी की बोतल, पर्स, बैग, ज्योमैट्री,-पेंसिल बॉक्स, प्लास्टिक पाउच, केलकुलेटक, तख्ती, पैड, गत्ता, पैन ड्राइव, रबर, टेबिल स्केनर, किताबें, नोटबुक, पर्चियां, व्हाइटनर लाने पर रोक रहेगी।

बोर्ड का तर्क...इन जिलों में पेपर लीक व नकल गिरोह ज्यादा सक्रिय रहते हैं, इसलिए ये फैसला

दस जिलों में पटवारी भर्ती परीक्षा के लिए कोई केंद्र नहीं होगा। बोर्ड ने पिछली परीक्षाओं का अध्ययन कराया तो सामने आया कि यहां या तो नकल के मामले ज्यादा आते रहे हैं या फिर पेपर लीक वाली गैंग या नकल गिरोह सक्रिय रहते हैं। इसलिए अतिरिक्त सावधानी बरतते हुए ये फैसला लिया। इन जिलों का चयन रीट से पहले ही कर लिया था। अभ्यर्थियों की भीड़ नहीं हो। इस कारण परीक्षा चार चरणों में होगी।- हरि प्रसाद शर्मा, अध्यक्ष, राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड

खबरें और भी हैं...