पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Illegal Fetal Sex Test, Pcpndt Cell Rajasthan Announce The Incentive Amount Will Be Increased From 2.5 Lakh To Three Lakh For Those Who Inform The Criminals

राजस्थान में PCPNDT की मुखबिर योजना:अवैध भ्रूण लिंग परीक्षण करने वाले गिरोह पर कसेगा शिकंजा, अपराधियों की सूचना देने वाले को प्रोत्साहन राशि ढाई लाख से बढ़ाकर तीन लाख की

जयपुर24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
राजस्थान में अवैध भ्रूण लिंग परीक्षण करने वालों की शिकायत टोल फ्री नम्बर 104/108 एवं वाट्सएप नम्बर 9799997795 पर कर सकते है। - Dainik Bhaskar
राजस्थान में अवैध भ्रूण लिंग परीक्षण करने वालों की शिकायत टोल फ्री नम्बर 104/108 एवं वाट्सएप नम्बर 9799997795 पर कर सकते है।

देश में अवैध भ्रूण परीक्षण कर गर्भपात करवाने वाले गिरोह के खिलाफ शिकंजा कसने के लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने PCPNDT अधिनियम के तहत मुखबिर योजना को प्रभावी बनाने के लिए प्रोत्साहन राशि को ढाई लाख से बढ़ाकर अब तीन लाख रुपये कर दिया गया है। अब ऐसे अवैध लिंग परीक्षण में लिप्त गिरोह के लोगों की सूचना देने वाले को तीन लाख रुपए का नगद मिलेंगे। उनकी जानकारी भी गोपनीय रखी जाएगी।

प्रमुख शासन सचिव अखिल अरोड़ा ने योजना के संबंध में बुधवार को दिशा निर्देश जारी कर दिये गये। जो कि वर्ष 2021-22 से प्रभावी होंगे। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा के निर्देश पर यह राशि बढ़ाई गई है।

पहले तीन किश्तों में मिलते थे ढाई लाख रुपए, अब दो किश्तों में दिए जाएंगे तीन लाख
अरोड़ा के मुताबिक पहले मुखबिर योजना के तहत भ्रूण लिंग परीक्षण संबंधी प्राप्त सूचना पर तीन किश्तों में ढाई लाख रुपये तक की राशि प्रोत्साहन स्वरूप दी जाती थी। लेकिन अब सफल डिकॉय ऑपरेशन पर मुखबिर, डिकाय गर्भवती महिला एवं सहयोगी को दो किश्तों में कुल तीन लाख रुपये की प्रोत्साहन राशि का भुगतान किया जायेगा।
योजना में निर्धारित ढाई लाख की राशि की पहली किश्त सफल डिकाय होने पर, दूसरी न्यायालय में परिवाद दर्ज होने एवं तीसरी किश्त फैसला आने पर दी जाती थी। अब मुखबिर डिकाय गर्भवती महिला एवं सहयोगी को पहली किश्त सफल डिकाय होने एवं दूसरी किश्त न्यायालय में अभियोजन पक्ष के समर्थन में बयान के बाद दी जायेगी।

गर्भवती महिला को अब दो किश्तों में डेढ़ लाख रुपये
डिकॉय ऑपरेशन में गर्भवती महिला की अहम भूमिका है। गर्भस्थ शिशु की जोखिम एवं गर्भवती महिला को परेशानी को ध्यान में रखते हुए गर्भवती महिला की राशि में बढ़ोतरी की गयी है। पहले गर्भवती महिला को तीन किश्तों में कुल एक लाख रुपये की राशि दी जाती थी। अब उसे दो किश्तों में कुल डेढ़ लाख रुपये की राशि प्रोत्साहन स्वरूप दी जाएगी।

साथ ही, पहले वाली योजना में मुखबिर को तीन किश्तों में 33 हजार 250 प्रति किश्त, सहयोगी को 16 हजार 625 रुपये प्रति किश्त मिलते थे। लेकिन अब मुखबिर को दो किश्तों में 50-50 हजार रुपये एवं सहयोगी को 25-25 हजार रुपये प्रोत्साहन राशि का भुगतान किया जाएगा।

इन टोल फ्री नंबरों पर करें शिकायत
राज्य समुचित प्राधिकारी एवं मिशन निदेशक एनएचएम सुधीर शर्मा ने बताया कि आमजन का भ्रूण लिंग परीक्षण रोकथाम में सहयोग मिलेगा। उन्होंने आमजन से भ्रूण लिंग परीक्षण की रोकथाम में सहयोग करने एवं इसकी शिकायत टोल फ्री नम्बर 104/108 एवं वाट्सएप नम्बर 9799997795 पर देने की अपील की है।

खबरें और भी हैं...