• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Important Meeting On The Issues Of Rajasthan At Rahul Gandhi's Residence, Discussion On Pilot Issues With Cabinet Expansion And Political Appointments

राजस्थान के बदलावों पर दिल्ली में मंथन:राहुल के आवास पर मंत्रिमंडल विस्तार और राजनीतिक नियुक्तियों पर चर्चा, गहलोत जयपुर रवाना

जयपुर/नई दिल्ली9 महीने पहले
राहुल गांधी के आवास 12 तुगलक लेन पर बैठक के लिए जाते नेता।

राजस्थान में सत्ता संगठन के बदलावों पर शनिवार शाम दिल्ली में मंथन हुआ। राहुल गांधी के आवास पर करीब सवा घंटे चली बैठक में मंत्रिमंडल फेरबदल, राजनीतिक और संगठनात्मक नियुक्तियों के फॉर्मूले पर चर्चा हुई। अभी आगे और बैठकें होने के आसार हैं। प्रियंका गांधी, संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, प्रभारी अजय माकन और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत मौजूद रहे।

बैठक के बाद सभी नेता मीडिया से बातचीत किए बिना ही निकल गए। प्रदेश प्रभारी अजय माकन ने मीडिया से केवल इतना ही कहा- नथिंग स्पेशल। सीएम अशोक गहलोत सीधे जयपुर जाने के लिए दिल्ली एयरपोर्ट निकल गए थे। गहलोत की शनिवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से अलग से मुलाकात नहीं हो सकी।

बताया जाता है कि आज की बैठक में मंत्रिमंडल फेरबदल फाॅर्मूले पर बात की गई है। सचिन पायलट खेमा जल्द मंत्रिमंडल विस्तार की मांग कर रहा है। अभी पायलट समर्थकों को मंत्रिमंडल और राजनीतिक नियुक्तियों में जगह देने के फॉर्मूले पर सहमति बनानी बाकी है। पायलट खेमे को दी जाने वाली भागीदारी पर फैसला होना बाकी है।

दिल्ली में बैठकों का दौर, सोनिया की जगह राहुल-प्रियंका के बैठकों के सियासी मायने
राजस्थान के बदलावों को धरातल पर उतारने के लिए बैठकों का दौर आगे भी चल सकता है। राजस्थान को लेकर सोनिया गांधी की जगह राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के बैठकें करने के भी सियासी मायने हैं।

कल गहलोत ने अंबिका सोनी से मुलाकात की
अशोक गहलोत की अभी तक सोनिया गांधी से मुलाकात नहीं हुई है। शुक्रवार को गहलोत ने सोनिया गांधी की सलाहकार अंबिका सोनी से मुलाकात की थी।

गहलोत की सोनिया से मुलाकात नहीं हुई

सीएम अशोक गहलोत की कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात नहीं हुई है। गहलोत बिना सोनिया गांधी से मुलाकात किए जयपुर लौट गए। बताया जाता है कि गहलोत आगे फिर दिल्ली दौरे पर जा सकते हैं। गहलोत की सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद ही मंत्रिमंडल फेरबदल का रास्ता साफ होगा।

खबरें और भी हैं...