कन्हैयालाल के परिजनों के लिए देश-दुनिया से मदद:12 हजार लोगों ने 24 घंटे में ही जुटा दिए एक करोड़ रुपए

जयपुर5 महीने पहलेलेखक: मनीष व्यास

उदयपुर में आतंकियों के हमले में मारे गए टेलर कन्हैयालाल के परिजनों की मदद के लिए बड़े पैमाने पर लोग आगे आए हैं। कन्हैयालाल और उनके घायल साथी ईश्वर सिंह के लिए 24 घंटे में ही एक करोड़ रुपए से ज्यादा की रकम जुटा ली गई। ये पैसे दोनों के परिजनों को दिए जाएंगे। कन्हैयालाल के घरवालों को एक करोड़ और ईश्वर सिंह को 25 लाख रुपए की आर्थिक सहायता मिलेगी।

असल में बुधवार को दिल्ली BJP के नेता कपिल मिश्रा ने दोनों परिवारों के लिए फंड जुटाने की ऑनलाइन मुहिम शुरू की थी। इस मुहिम में ऑनलाइन फंड ट्रांसफर के माध्यम से देश-दुनिया से अभी तक 12,223 लोग अपना योगदान दे चुके हैं। अब तक सवा करोड़ रुपए से ज्यादा फंड जमा हो चुका है। उनके मुताबिक जमा हो रहे फंड में से एक करोड़ कन्हैयालाल की पत्नी को दिए जाएंगे जबकि 25 लाख रुपए ईश्वर सिंह को। बता दें कि अंतरराष्ट्रीय आतंकी संगठन ISIS से जुड़े दो दरिंदों ने मंगलवार को दुकान में घुसकर दिनदहाड़े कन्हैयालाल का गला काट दिया था। इस हमले में उनके कारीगर ईश्वर घायल हुए थे।
अभी तक 1.31 करोड़ रुपए की सहायता राशि जुटाई
मिश्रा ने बताया, 'क्राउड फंडिंग के जरिए लगभग 1.31 करोड़ रुपए जमा हो चुके हैं। देश और दुनिया से लोग कन्हैयालाल के परिवार के साथ हैं। हम उनकी पत्नी, बच्चों, परिवार को न कमजोर पड़ने देंगे, न ही अकेला। उन्होंने कन्हैयालाल के बेटे यश से बात भी की। मिश्रा ने भास्कर को बताया, 'हमारी टारगेट फंडिंग पूरी हो चुकी है। आजकल में कन्हैयालाल की पत्नी और ईश्वर सिंह के बैंक अकाउंट की डिटेल्स मिल जाएगी। जैसे ही ये डिटेल्स आएगी तो रुपया उनके अकाउंट में ट्रांसफर कर दिया जाएगा। इस प्रोसेस को पूरा होने में 4-5 दिन लग सकते हैं।' उन्होंने बताया कि इसके बाद जब भी कंडीशन नॉर्मल होगी तो वह खुद भी उदयपुर जाकर मृतक कन्हैयालाल के परिवार से भी मिलेंगे।
1 पोस्ट से शुरू हुआ विवाद, 20 दिन रची साजिश:कन्हैयालाल की हत्या प्री-प्लान्ड थी, मोहरा बना माहौल बिगाड़ा गया

क्राउड फंडिंग के जरिए सवा करोड़ रुपए का टारगेट रखा गया था। ये रुपए कन्हैयालाल की पत्नी के अकाउंट में ट्रांसफर कर दिए जाएंगे।
क्राउड फंडिंग के जरिए सवा करोड़ रुपए का टारगेट रखा गया था। ये रुपए कन्हैयालाल की पत्नी के अकाउंट में ट्रांसफर कर दिए जाएंगे।

गौरतलब है कि राजस्थान के उदयपुर में मंगलवार को एक टेलर कन्हैयालाल की तालिबानी तरीके से हत्या कर दी गई थी। इससे 10 दिन पहले उसके मोबाइल से नूपुर शर्मा के समर्थन में एक पोस्ट हुई थी। तभी से उन्हें धमकियां मिल रही थीं। इसकी उन्होंने पुलिस में शिकायत भी की, लेकिन उसे गंभीरता से नहीं लिया गया। इस बीच, मंगलवार को दो आतंकी रियाज और गौस मोहम्मद कपड़े का नाप देने के बहाने कन्हैयालाल की दुकान में आए और उन पर हमला कर दिया। उन पर धारदार हथियार से कई वार किए थे।
कन्हैया के हत्यारे आतंकी, स्लीपर सेल बना रहे थे:मर्डर का हथियार गौस ने बनाया; रियाज की शादी आतंकियों ने कराई
उदयपुर में हत्यारों ने पहले भी लोगों को भड़काया था:दाढ़ी पर हाथ लगा तो पुलिसवाले का पुतला फूंका, प्रदर्शन के लिए उकसाया

मर्डर का निकला पाकिस्तान कनेक्शन, NIA कर रही जांच
उदयपुर में हुए इस तालिबानी मर्डर के तार पाकिस्तान से जुड़े हैं। आतंकी लिंक सामने आने के बाद अब मामले की जांच भी नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (NIA ) कर रही है। NIA ने 8 से 10 मोबाइल नंबर ट्रेस किए हैं। इनकी लोकेशन पाकिस्तान से लेकर भारत में आ रही है। इन्हीं नंबरों पर रियाज जब्बार और गौस मोहम्मद की लगातार बातचीत भी हो रही थी। दोनों आरोपी दावते इस्लामी संगठन और तहरीके लब्बेक संगठन से कई सालों से जुड़े हुए थे। इतना ही नहीं इन्होंने पाकिस्तान में ट्रेनिंग भी ली थी।
उदयपुर में तालिबानी मर्डर का पाकिस्तान कनेक्शन:रियाज और गौस ने 15 दिन कराची में मौलाना से ट्रेनिंग ली, 8 से 10 नंबरों पर बात की