• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • In BJP, Many Big Leaders Got Involved In The Politics Of Shining The Face With Posters, Vasundhara Said I Had My Own Posters Removed While CM

पाेस्टर पाॅलिटिक्स:बीजेपी में पोस्टर से चेहरा चमकाने की सियासत में उतरे कई बड़े नेता, वसुंधरा बोली- मैंने तो सीएम रहते खुद के पोस्टर हटवाए थे

जयपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा है कि वे पोस्टरो में नहीं जनता के दिलों में रहना चाहती हैं। भाजपा कार्यालय में लगे पोस्टर से उनके फाेटाे हटने के सवाल पर ये जवाब दिया।

उन्हाेंने बताया कि जब मैं सीएम थी तब जयपुर में जगह-जगह मेरे पोस्टर लगाए जाते थे,पर ज्योहि मेरी उन पर नजर पड़ती,मैं उन्हें तत्काल हटवाती थी,क्योंकि पोस्टर या कागजाें में नहीं,मैं जनता के दिलो पर राज करना चाहती हूं। जनता के दिलों में रहना चाहती हूं। किसी के जख्म और किसी के घाव पर मरहम लगाना चाहती हूं।

कागजाें और पोस्टरों में रहने से कुछ होने जाने वाला नहीं है। मुझे तो लोगों के दिलों में राज करना है। ऐसा काम करना है,जिसे लोग याद रखे। तब ही उनके दिलों में बस सकूंगी। मेरे लिए सबसे बड़ी बात तो ये है कि लोग याद करते हैं। लोगों के दिल में मेरी बात है।इससे बड़ा मेरा सौभाग्य और क्या हो सकता है। जब हर एक आदमी मुझे प्यार करेगा। हर एक आदमी ही मुझे आशीर्वाद देगा। हर एक आदमी ही मुझे याद करेगा तो इससे बड़ी चीज मेरे लिए क्या हो सकती है। मैं दिल में राज करूं पोस्टर में नहीं।मैं यही कोशिश करती हूं । मेरे 30 साल के राजनीतिक जीवन का उद्देश्य भी यही है।

होर्डिंग्स पर फोटो लगाने से कोई सीएम नहीं बन जाता है : कटारिया
पाेस्टर विवाद के बाद नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि पोस्टर और होर्डिंग लगाने से कोई भी नेता मुख्यमंत्री नहीं बन जाता। पार्टी में इसकी गलतफहमी किसी को हो तो निकाल देना चाहिए। यही नहीं इससे आगे कटारिया ने कहा कि दिलों पर राज करना जनता की सेवा पर निर्भर करता है, जो जितनी सेवा करेगा, उसकी फोटो भले ही नहीं छपी हो लेकिन वही दिलों पर राज करेगा।

पोस्टर को नहीं मानती वसुंधरा
उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ कहा है कि पोस्टर की बातें खत्म हो गई है। वसुंधरा राजे हमारी नेता हैं वे इन बातों को नगण्य मानती है। इस पर चर्चा करने की आवश्यता नहीं है। वसुंधरा राजे ने खुद ही पोस्टर को लेकर कह दिया है। वो लोगों के दिलों में राज नहीं करती तो दो-दो बार मुख्यमंत्री थोड़े ही बनती। वो लोकप्रिय तो थी ही, आज भी उनकी भूमिका है। राजस्थान की राजनीति में उनकी भूमिका को कौन नकार सकता है? वसुंधरा राजे नेता है और नेता रहेंगी।