पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मुन्नाभाई डॉक्टर गिरफ्तार:आयुर्वेद अस्पताल में कंपाउंडर था, खुद का हॉस्पिटल खोल लिया और एमडी बताकर मरीजों का कर रहा था इलाज

जयपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डॉक्टर बनकर मरीजों का उपचार कर रहे व्यक्ति के खिलाफ सीएमएचओ जयपुर प्रथम ने करधनी थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई थी - Dainik Bhaskar
डॉक्टर बनकर मरीजों का उपचार कर रहे व्यक्ति के खिलाफ सीएमएचओ जयपुर प्रथम ने करधनी थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई थी
  • जयपुर में करधनी थाना पुलिस ने किया गिरफ्तार, सीएमएचओ ने की थी शिकायत
  • राजकीय आयुर्वेद औषधालय में कंपाउंडर है आरोपी, एलौपेथी की नहीं है कोई डिग्री

जयपुर में आयुर्वेदिक अस्पताल का कंपाउंडर खुद को एमडी डॉक्टर बताकर हॉस्पिटल चला रहा था। शुक्रवार को पुलिस ने उसे पकड़ लिया। गिरफ्तार व्यक्ति का नाम विनोद शर्मा (51) है। उसके पास डॉक्टर होने की कोई डिग्री नहीं थी, लेकिन वह खुद को एमडी बताकर मरीजों का इलाज करता था। पुलिस ने सीएमएचओ की शिकायत पर आरोपी को शुक्रवार को गिरफ्तार किया है।

झोटवाड़ा एसीपी हरिशंकर शर्मा ने बताया कि सीएमएचओ ने करधनी थाने में एक शिकायत दर्ज करवाई थी। इसमें बताया कि कालवाड़ रोड पर गोविंदपुरा में गणपति सेटेलाइट अस्पताल एंड रिसर्च सेंटर है। इसे विनोद शर्मा संचालित कर रहा है। उसके पास मेडिकल से जुड़ी किसी तरह की डिग्री नहीं है। यही नहीं, उसने अपने नाम के आगे भी डॉक्टर जोड़ रखा है। वह खुद को एमडी बताकर मरीजों का इलाज करता है। उसके यहां भारी मात्रा में अंग्रेजी दवाइयां भी मिली।

सीएमएचओ की शिकायत पर पुलिस ने करधनी थाना पुलिस ने जांच शुरू की। आरोपित विनोद शर्मा से पूछताछ में सामने आया कि वे एक राजकीय आयुर्वेद औषधालय में कम्पाउंडर है। उनके पास एमबीबीएस या एमडी की कोई डिग्री नहीं है। तब करधनी थानाप्रभारी विनोद मीणा ने कार्रवाई करते हुए विनोद कुमार शर्मा को गिरफ्तार कर लिया।

खबरें और भी हैं...