• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • In Protest Against The State Government Agneepath, On The Other Hand Teachers With Vidya Sambal Were Removed For 2 Months, CHA Also On Dharna For 86 Days

दोहरा रवैया:राज्य सरकार अग्निपथ के विरोध में, उधर 2 माह के लिए विद्या संबल वाले शिक्षकों काे हटाया, 86 दिन से सीएचए भी धरने पर

जयपुर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अग्निपथ के विरोध में सोमवार को सभी विधानसभा क्षेत्रों में धरने दिए। - Dainik Bhaskar
अग्निपथ के विरोध में सोमवार को सभी विधानसभा क्षेत्रों में धरने दिए।

राजस्थान सरकार लगातार सेना भर्ती में अग्निपथ योजना लागू करने का विरोध जता रही है। साेमवार काे भी जिलों में इस योजना काे लेकर प्रदर्शन किए गए। सवाल उठ रहे हैं कि 4 साल बाद युवा क्या करेंगे? दूसरी ओर प्रदेश के बेरोजगारों का कहना है कि ऐसा ही हाल प्रदेश में विद्या संबल योजना से लेकर सीएचए के साथ भी हुआ है। अब फिर जुलाई में प्रदेश के सरकारी कॉलेजों में विद्या संबल योजना में गेस्ट फेकल्टी लगाने का आदेश निकालने की तैयारी है। इन्हें करीब 2 महीने पहले हटा दिया गया था। काेविड हैल्थ सहायक भी 86 दिन से नाैकरी की मांग पर धरना दे रहे हैं।

स्कूलों व अन्य जगह भी संविदा पर टीचर लगाए जाएंगे। काेविड हैल्थ सहायक (सीएचए) पिछले 86 दिन से धरने पर हैं। संघर्ष समिति के रवि चावला ने बताया कि राज्य सरकार ने काेराेना काल में 28 हजार लाेगाें काे सीएचए लगाया था। लेकिन 31 मार्च काे सबकाे हटा दिया। अब नियुक्ति की मांग काे लेकर धरने पर बैठे हैं। चावला ने बताया कि जैसे कांग्रेस सरकार अग्निपथ के विरोध में हर जगह प्रदर्शन कर ज्ञापन दे रही है उसी तरह हमने भी हर जिले में ज्ञापन देकर हमारी मांग रखी है। राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के उपेन यादव का कहना है कि सरकार की कथनी और करनी में अंतर है। अग्निपथ की तरह संविदा पर लगाकर युवाओं के साथ धाेखा किया जा रहा है।

1100 गेस्ट फैकल्टी लगाए थे, अब प्रदेश में 87 काॅलेजों की बढ़ोतरी
राज्य सरकार ने पिछले साल ही विद्या संबल योजना शुरू करते हुए नए सरकारी कॉलेजों में करीब 1100 गेस्ट फेकल्टी लगाए थे। जिन्हें हर कालांश के करीब 800 रुपए दिए जाते हैं। पिछले साल 4500 आवेदन आए थे, लेकिन करीब 1100 काे लगाया गया था। अब 87 नए काॅलेज और बढ़ गए हैं। जुलाई में इस योजना में गेस्ट फेकल्टी लगाने के लिए ऑर्डर निकाला जाएगा। क्लासेज शुरू हाेने से इन्हें लगाया जाएगा। पहले लगे गेस्ट फैकल्टी रामसिंह सामाेता ने कहा कि 1 जुलाई से वापस नियुक्ति नहीं की गई ताे 4 जुलाई काे धरना देंगे।

कांग्रेस ने प्रदेशभर में दिया धरना
अग्निपथ के विरोध में सोमवार को सभी विधानसभा क्षेत्रों में धरने दिए। कांग्रेस नेताओं ने केंद्र सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि चुनावों में वन रैंक वन पेंशन के वादा करने वाली मोदी सरकार अब नो रैंक नो पेंशन पर पहुंच गई है। जयपुर में प्रदर्शन में मंत्री डॉ.महेश जोशी ने केंद्र सरकार पर होर्स ट्रेडिंग के आरोप लगाए वहीं मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास बोले-राजस्थान में सरकार मजबूत है।

खबरें और भी हैं...