• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • In The Bard Meeting, If The Chair Of The Sub district Chief Was Not Equal To That Of The District Chief, There Was A Ruckus

किस्सा कुर्सी का:​​​​​​​बाेर्ड बैठक में उपजिला प्रमुख की कुर्सी जिला प्रमुख के बराबर नहीं लगाई तो हुआ हंगामा

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नवनिर्वाचित जिला परिषद सदस्यों की बुधवार काे पहली साधारण सभा की बैठक हंगामे की भेंट चढ़ गई। सभा में उप जिला प्रमुख माेहन डागर की कुर्सी जिला प्रमुख रमा चौपड़ा के साथ मंच पर नहीं लगाने काे लेकर कांग्रेस के सदस्यों ने हंगामा कर दिया। कांग्रेस सदस्य वेल में आ गए। भाजपा सदस्यों भी बचाव में वेल में आने के बाद दाेनाें पार्टियों के सदस्य आमने-सामने हाे गए। हंगामा बढ़ने पर भाजपा सदस्यों ने जिला परिषद को नाथी का बाड़ा नहीं बनने देने के नारे भी लगाएं।

उप जिला प्रमुख माेहन डागर व कांग्रेस सदस्यों ने आराेप लगाया कि जिला प्रमुख व बीजेपी सदस्य पुरानी परंपरा काे ताेड़ रहे हैं। 15 वर्ष से साधारण सभा में जिला प्रमुख व उप जिला प्रमुख की कुर्सी बराबर लगती है। दाेनाें मिलकर सभा की बैठक संचालित करते हैं। कुर्सी नहीं लगने पर डागर मीटिंग में शामिल नहीं हुए। भाजपा विधायक रामलाल शर्मा भी बैठक में पहुंचे, लेकिन कुछ देर बाद वहां से रवाना हो गए।

जिला प्रमुख : बदली जानी चाहिए पुरानी परंपराएं
जिला प्रमुख रमा देवी चौपड़ा कहा कि पुरानी परंपराओं काे बदलने का समय अा गया है। अब महिलाएं घूंघट में नहीं रहती वे अकेली सभा संचालन करने में सक्षम है। उन्होंने कहा कि जरूरत के हिसाब से परंपरा काे बदला गया है। उन्होंने कहा कि यदि नियमों में होगा तो ही उप जिला प्रमुख मंच पर बैठेंगे, नहीं तो उन्हें अन्य सदस्यों के साथ मंच के सामने ही बैठना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सदस्य देरी से आए कुर्सी को लेकर हंगामा कर दिया।
उपजिला प्रमुख: प्रमुख का ध्यान खुद के विकास पर
उप जिला प्रमुख कांग्रेस के मोहन डागर ने हंगामे से इंकार करते हुए कहा कि कांग्रेस के सदस्य सदन को व्यवस्था के अनुसार चलाने की बात कह रहे थे। डागर ने कहा कि पिछली बार जिला परिषद में भाजपा का जिला प्रमुख और वे उप जिला प्रमुख थे। उस समय भी हमने विकास के मुद्दों पर सहमति दी थी। कांग्रेस के सदस्य चाहते हैं कि 15 साल से उप जिला प्रमुख की कुर्सी मंच पर लगाने की परंपरा बनी रहे। इसे भाजपा सदस्य तोड़ना चाहते हैं।

-----आधा घंटे में ही सभा काे समाप्त किया
सभा में तीसरे चरण की प्रधान मंत्री सड़क योजना में ग्रामीण क्षेत्र में 150 किलोमीटर लंबी सड़कें बनाने के प्रस्ताव पर चर्चा हाेनी थी। सभा में हंगामे के दाैरान ही एक प्रस्ताव काे भाजपा सदस्यों ने हाथ खड़े कर पास कर दिया। इसके बाद जिला प्रमुख ने सभा काे समाप्त कर दिया।

-----जिला परिषद सीईओ का माइक पकड़ा
हंगामे के दौरान कांग्रेस के एक सदस्य ने जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी पूजा पार्थ का माइक छीन लिया। कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा ने कांग्रेस सदस्यों काे समझाने का प्रयास किया, लेकिन हंगामा चलता रहा। इसके बाद कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा व मुख्य कार्यकारी सदस्य पूजा पार्थ सभा छाेड़कर चले गए।

खबरें और भी हैं...