• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • In Tokyo Paralympics Gold Medal Winner Avani Honored At Commercial Tax Bhavan Jhalana Jaipur, Said Papa Brought Abhinav Bindra's Biography, Got Motivation After Reading

मां के ऑफिस में बेटी अवनी को मिला सम्मान:टोक्यो पैरालंपिक में गोल्ड मैडल जीतने वाली अवनी का कॉमर्शियल टैक्स ऑफिस में सम्मान, रूबरू होते हुए कहा- पापा ने अभिनव बिंद्रा की बायोग्राफी लाकर दी, पढ़कर मिला मोटिवेशन

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टोक्यो पैरालंपिक में गोल्ड मैडलिस्ट अवनी लेखरा बुधवार को वाणिज्यिक कर विभाग में अफसरों व कर्मचारियों से रूबरू हुईं - Dainik Bhaskar
टोक्यो पैरालंपिक में गोल्ड मैडलिस्ट अवनी लेखरा बुधवार को वाणिज्यिक कर विभाग में अफसरों व कर्मचारियों से रूबरू हुईं

टोक्यो पैरालंपिक में निशानेबाजी में गोल्ड मैडल जीतकर इतिहास जीतने वाली जयपुर की अवनी लेखरा का बुधवार को वाणिज्यिक कर विभाग में सम्मानित किया गया। अवनी की मां श्वेता जेवरिया इसी ऑफिस में कनिष्ठ वाणिज्यिक कर अधिकारी है। बुधवार को अवनी अपनी मां श्वेता के साथ उनके ऑफिस पहुंची। जहां आयुक्त रवि जैन और अतिरिक्त आयुक्त विनोद पुरोहित ने खुद उनका स्वागत किया।

इसके बाद भवन में चौथी मंजिल पर स्थित सभागार में अवनी विभाग के अफसरों व कर्मचारियों के साथ रूबरू हुई। अपने अनुभव बताए। इस दौरान अवनी की मां और उनके नाना भी मौजूद रहे। सभागार में प्रवेश करते वक्त और निकलते वक्त कर्मचारियों और अफसरों ने तालियां बजाकर सम्मान दिया।

सभागार में वाणिज्यिक कर विभाग के अधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे
सभागार में वाणिज्यिक कर विभाग के अधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे

सभागार में आईएएस रवि जैन ने अवनी ने उनकी सफलता और संघर्ष से जुड़े कई सवाल पूछे। जिनमें अवनी ने जवाब देते हुए कहा कि 2012 में कार दुर्घटना के बाद स्पाइनल कॉर्ड (रीढ़ की हड्डी) से जुड़ी तकलीफ़ का सामना कर रही हैं। वो व्हीलचेयर के सहारे ही चल पाती थीं, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी। मम्मी और पापा ने ओलंपियन अभिनव बिंद्रा की ऑटो बायोग्राफी लाकर दी। इससे पढ़ने से अवनी को मोटिवेशन मिला। अवनी ने शूटिंग में अपनी किस्मत आज़माना शुरु किया। इसके लिए मम्मी, पापा और नाना ने काफी सपोर्ट किया। इसके बाद अवनी ने लगातार सफलताएं हासिल कीं। इसी कड़ी में टोक्यो पैरालंपिक में गोल्ड और कांस्य पदक जीता।

खबरें और भी हैं...