जयपुर में JEN डेढ़ लाख रुपए की रिश्वत लेते ट्रेप:प्रोपर्टी वेल्यू कम करने की एवज में मांगी थी 5 लाख की रिश्वत, पहली किश्त लेते वक्त एसीबी ने पकड़ा, दूसरा जेईएन फरार

जयपुर5 महीने पहले
जयपुर में एसीबी की गिरफ्त में आरोपी।

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने जयपुर में एक जूनियर इंजीनियर (जेईएन) को डेढ़ लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। एसीबी ने ट्रेप की कार्रवाई मालवीय नगर स्थित इनकम टैक्स कॉलोनी में मंगलवार देर शाम को की गई। वहीं, मामले में नामजद दूसरा जेईएन फरार हो गया। उसकी तलाश की जा रही है। ये दोनों जेईएन सीपीडब्ल्यूडी विभाग में है, जो कि डेपुटेशन पर इनकम टैक्स विभाग में आए है। इन्होंने पांच लाख रुपए की रिश्वत की मांग की थी।

डीजी बीएल सोनी ने बताया कि घूस लेते पकड़ा गया आरोपी जेईएन पंकज कुमार चौधरी है। वह इनकम टैक्स डिपार्टमेंट में वैल्यूएशन विंग में है। वह जयपुर में करतारपुरा फाटक के पास रहता है और मूल रुप से झुंझुनूं में बिसाऊ तहसील का रहने वाला है। इस संबंध में एक व्यक्ति ने एसीबी मुख्यालय में शिकायत दर्ज करवाई थी। जिसमें बताया कि उसके मकान की वैल्यू कम करने की एवज में जेईएन पंकज चौधरी और जेईएन दिव्य प्रकाश मीणा ने पांच लाख रुपए की डिमांड की है। बाद में, वे दोनों 3 लाख रुपए लेने पर सहमत हुए है।

5 लाख रुपयों की डिमांड की, 3 लाख लेने पर राजी हुए, पहली किश्त लेते गिरफ्तार

डीजी बीएल सोनी के मुताबिक पीड़ित ने शिकायत में कहा कि उस पर लगातार पांच लाख रुपए रिश्वत की रकम के लिए दबाव डाल रहा है। रकम नहीं देने पर काम भी नहीं कर रहा है। शिकायत का सत्यापन करने के बाद एसीबी ने ट्रेप रचा। तब शिकायतकर्ता से हुई बातचीत में पंकज चौधरी व डीपी मीणा 3 लाख रुपए किश्तों में लेने पर राजी हुए।

मंगलवार को पहली किश्त में डेढ़ लाख रुपए देने पंकज के पास पहुंचा। जहां एसीबी ने ईशारा मिलते ही पंकज को पकड़ लिया। उसके कब्जे से डेढ़ लाख रुपए की रकम बरामद कर ली। रिश्वत के इस खेल में फरार जेईएन डीपी मीणा की तलाश की जा रही है। यह कार्रवाई एएसपी नरोत्तम वर्मा के सुपरविजन में इंस्पेक्टर मानवेंद्र सिंह ने की।

खबरें और भी हैं...