पाकिस्तानी महिला एजेंट के हनीट्रैप में फंसा सेना का जवान:भारतीय सेना की सैन्य सूचनाएं की लीक, वॉट्सऐप चलाने के लिए OTP भी दिया

जयपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पाकिस्तानी महिला एजेंट ने भारतीय सेना के जवान प्रदीप को हनीटैप में फांसकर डॉक्यूमेंट आउट किए। - Dainik Bhaskar
पाकिस्तानी महिला एजेंट ने भारतीय सेना के जवान प्रदीप को हनीटैप में फांसकर डॉक्यूमेंट आउट किए।

राजस्थान इंटेलिजेंस ने भारतीय सेना की अति संवेदनशील रजिमेंट जोधपुर में कार्यरत जवान प्रदीप कुमार को गिरफ्तार किया है। पाकिस्तानी महिला एजेंट के हैनीट्रेप में फंसकर उसने सेना के कई गोपनीय डॉक्यूमेंट शेयर किए है। भारतीय जवानों और लोगों को शिकार बनाने के लिए जवान प्रदीप कुमार की ओर से यूज ली जा रही सिम के मोबाइल नंबर से वॉट्सऐप चला रही है।

डीजी (इंटेलिजेंस) उमेश मिश्रा ने बताया कि गिरफ्तार सैन्यकर्मी प्रदीप कुमार (24) मूलत: रूडकी उतराखण्ड का रहने वाला है। वह तीन साल पहले भारतीय सेना में जवान के पद पर भर्ती हुआ था। ट्रेनिंग के बाद उसको गनर के पद पर लगाया गया। जिसके बाद से ही आरोपी का पदस्थापन अति संवेनदशील रेजिमेंट जोधपुर में हुआ था।

गिरफ्तार सैन्यकर्मी प्रदीप कुमार (24) मूलत: रूडकी उतराखण्ड का रहने वाला है।
गिरफ्तार सैन्यकर्मी प्रदीप कुमार (24) मूलत: रूडकी उतराखण्ड का रहने वाला है।

राजस्थान इंटेलिजेंस की निगरानी में पकड़ में आया
राजस्थान इंटेलिजेंस की ओर से पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी की राजस्थान में की जाने वाली जासूसी गतिविधियों पर निगरानी की जाती है। निगरानी में सामने आया कि भारतीय सेना की अति संवेदनशील रजिमेंट जोधपुर में कार्यरत प्रदीप कुमार सोशल मीडिया के जरिए PIO (पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी) से लगातार संपर्क में है। सीआईडी इंटेलिजेंस जयपुर की ओर से सैन्यकर्मी की गतिविधियों पर लगातार निगरानी शुरू की। सामने आया कि प्रदीप कुमार महिला एजेंट से सोशल मीडिया के जरिए लगातार निरंतर सम्पर्क में है। प्रदीप कुमार सामरिक महत्व की सूचनाएं महिला एजेंट से साझा कर रहा है। 18 मई को सैन्यकर्मी प्रदीप कुमार को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की गई।

हनीट्रेप में फंसा तो सेना के गोपनीय दस्तावेज भेजे
सभी एजेंसियों की ओर से जवान प्रदीप कुमार से पूछताछ की गई। पूछताछ में सामने आया कि करीब 6 महीने पहले उसके मोबाइल पर एक महिला का कॉल आया। जिसके बाद दोनों वॉट्सऐप पर चैट, वॉइस कॉल और वीडियो कॉल कर आपस में बातें करने लगे। छदम नाम की महिला ने अपने आप को ग्वालियर मध्यप्रदेश की रहने वाली बताया थ। खुद को बंगलौर में MNS में पदस्थापित होना बताया। महिला एजेंट ने दिल्ली आकर मिलने और शादी करने का झांसा दिया। हनीट्रैप में फांसकर सैन्यकर्मी प्रदीप कुमार से ऑफिस से सेना से संबंधित गोपनीय डॉक्यूमेंट की फोटो चोरी छिपे वॉट्सऐप पर महिला एजेंट ने मंगवाई। पूछताछ में यह भी सामने आया है कि महिला मित्र के चाहने पर अपनी स्वयं की ओर से यूज ली जा रही एक सिम के मोबाइल नंबर और वॉट्सऐप के लिए OTP भी शेयर किए गए। उस भारतीय नंबर को यूज कर पाकिस्तान महिला एजेंट अन्य लोगों और आर्मी के जवानों को अपना शिकार बना सकें।