जयपुर में टीम इंडिया को मिलेगा नया कोच-कप्तान:SMS स्टेडियम में 8 साल बाद होगा इंटरनेशनल क्रिकेट मैच, बतौर कोच द्रविड़ का होगा पहला मैच

जयपुर3 महीने पहले
राहुल द्रविड़

राजस्थान के खेल प्रेमियों का इंतजार अब खत्म होने वाला है। 17 नवंबर को जयपुर के सवाई मानसिंह (SMS) स्टेडियम में 8 साल बाद इंटरनेशनल क्रिकेट मैच का आयोजन किया जा रहा है। इसमें भारतीय टीम का मुकाबला न्यूजीलैंड टीम से होगा। लंबे समय बात होने जा रहा यह मैच कई मायनों में काफी खास है। इस मैच में जहां भारतीय टीम में बतौर कोच राहुल द्रविड़ पहली बार मैदान पर मौजूद रहेंगे। वहीं भारतीय टी-20 टीम को नया कप्तान भी मिलेगा।

हाल ही में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने पूर्व क्रिकेटर राहुल द्रविड़ को भारतीय क्रिकेट टीम का कोच नियुक्त किया है। ऐसे में बतौर कोच राहुल द्रविड़ की पहली परीक्षा जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में होगी। जहां भारतीय क्रिकेट टीम न्यूजीलैंड से मुकाबला करेगी। विराट कोहली के कप्तानी छोड़ने के बाद जयपुर के SMS स्टेडियम में ही भारतीय टीम नए कप्तान के साथ पहला मुकाबला खेलेगी। अब तक भारतीय टीम के नए कप्तान का ऐलान नहीं हुआ है, लेकिन सूत्रों के अनुसार रोहित शर्मा का नाम लगभग फाइनल हो चुका है। SMS जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में 8 साल बाद होने जा रहा क्रिकेट मैच कई महीनों में काफी खास होने जा रहा है।

द्रविड़ का है राजस्थान से पुराना नाता
भारतीय टीम के नए कोच राहुल द्रविड़ का राजस्थान और जयपुर से पुराना नाता है। दरअसल, राहुल द्रविड़ IPL टीम राजस्थान रॉयल्स के कप्तान और मेंटर रह चुके हैं। ऐसे में उन्होंने लंबे समय तक जयपुर में रहकर न सिर्फ प्रैक्टिस की है। द्रविड़ SMS स्टेडियम के ग्राउंड और चप्पे-चप्पे से भली भांति वाकिफ है। ऐसे में माना जा रहा है कि टीम इंडिया को द्रविड़ के तजुर्बे का काफी फायदा मिलने वाला है।

2013 में हुआ था आखिरी मैच
जयपुर को 16 अक्टूबर 2013 में अंतरराष्ट्रीय मैच की मेजबानी मिली थी। तब ऑस्ट्रेलिया के साथ भारत का वनडे मुकाबला हुआ था। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 359 रनों का विशाल टारगेट दिया था। भारतीय टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 43.3 ओवर में ही लक्ष्य हासिल करते हुए, ऑस्ट्रेलिया को 9 विकेट से करारी शिकस्त दी थी। जयपुर का सवाई मानसिंह स्टेडियम बैटिंग पिच माना जाता है। यहां बड़ी संख्या में IPL मैच भी हो चुके हैं।

खबरें और भी हैं...