• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • It Will Not Be Easy For The Congress To Occupy The District Chief's Seat Due To The Pilot backed Members; BJP Is Also Preparing To Field Candidates

जयपुर जिला प्रमुख के लिए घमासान:जिला प्रमुख उम्मीदवार को लेकर खींचतान, पायलट समर्थक सदस्यों को साधकर ही कांग्रेस उम्मीदवार तय करेगी, भाजपा भी उम्मीदवार मैदान में उतारने की तैयारी में

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भाजपा की राजकंवर और कांग्रेस की सरोज देवी शर्मा। - Dainik Bhaskar
भाजपा की राजकंवर और कांग्रेस की सरोज देवी शर्मा।

जयपुर जिला परिषद के चुनाव में भले ही कांग्रेस बहुमत हासिल करने में कामयाब हो गई हो, लेकिन कांग्रेस के भीतर खींचतान है। खींचतान के कारण कांग्रेस अब उम्मीदवार घोषित करने की जगह सीधे नामांकन के वक्त सिंबल देने की रणनीति पर चल रही है। जयुपर जिला प्रमुख के उम्मीदवार के लिए यहां पायलट समर्थक प्रत्याशी भी दावेदारी जता रहे हैं। कांग्रेस पवायलट समर्थकों को साधने के बाद ही उम्मीदवार तय करेगी।

दूसरी बड़ी चुनौती भाजपा है, जो कल अपना उम्मीदवार मैदान में उतार सकती है।

पिछले 20 साल का ट्रेंड देखे तो साल 2000, 2005 और 2015 में भाजपा का उम्मीदवार जिला प्रमुख बना है। तीनों समय में भाजपा को स्पष्ट बहुमत मिला था, लेकिन बावजूद उसके कांग्रेस ने अपने प्रत्याशी खड़े किए थे। साल 2010 में कांग्रेस राज्य की सत्ता में थी, तब जयपुर जिला परिषद में कांग्रेस का बहुमत आया था और जिला प्रमुख बनाने में कांग्रेस सफल रही थी।

इनमें किसी एक पर दाव खेल सकती है कांग्रेस
कांग्रेस में जिला प्रमुख के दावेदारों की सूची में सबसे ज्यादा चर्चित नाम सरोज देवी शर्मा का चल रहा है। वार्ड 21 से जीतकर आई सरोज देवी बागड़ा ब्राह्मण समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष बद्रीनारायण बागड़ा की पुत्रवधु है। हालांकि बागड़ा का यहां कुछ विरोध हो सकता है, क्योंकि बागड़ा पहले भाजपा खेमे में थे और राममंदिर मामले में हुए आंदोलन में वह अयोध्या गए थे। इसके अलावा कांग्रेस के खिलाफ रिंग रोड परियोजना का विरोध करते हुए आंदोलन किया था।

भाजपा की अचरज कंवर और कांग्रेस की धोली देवी गुर्जर।
भाजपा की अचरज कंवर और कांग्रेस की धोली देवी गुर्जर।

इसके अलावा कांग्रेस से दूसरा नाम वार्ड 17 से जीतकर आई रमा देवी चोपड़ा का चल रहा है। रमादेवी के पति मोती राम झोटवाड़ा यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष रहे है और पिछले साल हुए नगर निगम ग्रेटर के चुनाव में कांग्रेस के विरोध में निर्दलीय चुनाव लड़े थे। वहीं एक नाम वार्ड 31 से धोली देवी गुर्जर का भी चल रहा है। धोली देवी पायलट समर्थक मानी जाती है। धोली के पति मक्कड़ गुर्जर है प्रदेश यूथ कांग्रेस के पूर्व महासचिव रह चुके है।

भाजपा में इन नामों पर चर्चा
भाजपा ने 51 में से 24 सीटे जीती है और उसे जिला प्रमुख बनाने के लिए कांग्रेस से 2 प्रत्याशियों को तोड़ना है। ऐसे में भाजपा का प्रयास रहेगा कि अगर क्रॉस वोटिंग हो जाए तो उसे फायदा होगा। भाजपा की तरफ से वार्ड 35 से अचरज कंवर का नाम सबसे ज्यादा चर्चा में है। अचरज कंवर जालसू पंचायत समिति में उप प्रधान रह चुकी है। इसी तरह दूसरा नाम वार्ड 19 से जीतकर आई राज कंवर का चल रहा है, जो पूर्व में बगरू के पास ठीकरिया ग्राम पंचायत की सरपंच रह चुकी है।