प्रशासन की चेतावनी के बाद भी कर्मचारी हड़ताल पर:जयपुर में आज 2 लाख से ज्यादा यात्री परेशान, नहीं चली 280 लो फ्लोर बसें

जयपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर में बस डिपो पर खड़ी लो फ्लोर और मिड्‌डी बसें। - Dainik Bhaskar
जयपुर में बस डिपो पर खड़ी लो फ्लोर और मिड्‌डी बसें।

जयपुर शहर में लोकल ट्रांसपोर्ट (लो फ्लोर बसों) में सफर करने वाले यात्रियों को आज परेशान होना पड़ा। जयपुर सिटी ट्रांसपोर्ट सर्विस लि. (JCTSL) के करीब 1 हजार से ज्यादा कर्मचारियों ने प्रशासन की चेतावनी को नजरअंदाज करके हड़ताल कर दी। हड़ताल के कारण जयपुर शहर में 280 से ज्यादा लो फ्लोर और मिड्‌डी बसें आज नहीं चली। हड़ताल पर गए कर्मचारियों से मुलाकात के लिए नगर निगम ग्रेटर के अतिरिक्त आयुक्त बृजेश चांदोलिया आज दिन में विद्याधर नगर डिपो भी पहुंचे, लेकिन बात नहीं बनी। अब आज शाम को स्वायत्त शासन विभाग के सचिव भवानी सिंह देथा से मुलाकात प्रस्तावित है।

विद्याधर नगर डिपो के बाहर धरने पर बैठे जेसीटीएसएल के कर्मचारी।
विद्याधर नगर डिपो के बाहर धरने पर बैठे जेसीटीएसएल के कर्मचारी।

जयपुर में आज सरकारी सिटी बस नहीं चलने से यात्रियों को मजबूरन प्राइवेट मिनी बसों, टैम्पू, टैक्सी, मैजिक में सफर करना पड़ा। वहीं हड़ताल को देखते हुए प्राइवेट बस चालकों ने भी मौके का खूब फायदा उठाया और लोकल किराया 20-25 फीसदी तक ज्यादा वसूला। जेसीटीएसएल एम्पलॉय यूनियन विपिन चौधरी ने बताया कि यह आंदोलन दो दिन आज और कल चलेगा। इस दौरान प्रशासन ने हमारी मांगों पर कोई विचार नहीं किया तो आंदोलन को आगे भी जारी रखा जाएगा। चौधरी ने बताया कि आज आंदोलन के कारण बगराना, टोडी, विद्याधर नगर और सांगानेर डिपो से 280 से ज्यादा बसें नहीं चली। इस कारण आज करीब 2 लाख यात्रियों को परेशानी हुई। चौधरी ने बताया कि हम नहीं चाहते जयपुर की जनता परेशान रहे, लेकिन सरकार और प्रशासन की ओर से हमारी कोई सुनवाई नहीं हो रही, जिसके कारण मजबूरन हमे हड़ताल करनी पड़ी है।

इन मांगों को लेकर की हड़ताल

7वें आयोग के तहत वेतनमान देने, एरियर, बोनस का भुगतान देने और कर्मचारियों को नियमित करने की मांग को लेकर कर्मचारियों ने हड़ताल की है। इसके अलावा जो 8 साल से प्रोबेशन पर काम कर रहे है उनको नियमित किया जाए। आगरा रोड स्थित बगराना डिपो पर कर्मचारियों से 8 घंटे से भी ज्यादा समय तक ड्यूटी करवाई जा रही है, यह व्यवस्था भी खत्म होनी चाहिए।

खबरें और भी हैं...