पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्री कैंप में पहले दिन मक्खियां उड़ाते रहे अधिकारी:प्रशासन शहरों के संग अभियान के तहत जयपुर नगर निगम ऑफिसों में लगे कैंप में आए, लोग जानकारी लेकर लौटे

जयपुर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर नगर निगम ग्रेटर के मालवीय नगर जोन लगाए कैंप में बैठे कर्मचारी-अधिकारी। - Dainik Bhaskar
जयपुर नगर निगम ग्रेटर के मालवीय नगर जोन लगाए कैंप में बैठे कर्मचारी-अधिकारी।

प्रशासन शहरों के संग अभियान के प्री-कैम्प की आज से शुरुआत हो गई। पहले दिन जयपुर नगर निगम और जेडीए ने अपने-अपने ऑफिसों में कैंप लगाकर लोगों से आवेदन मांगे। नगर निगम जयपुर में लगे शिविरों में तो कर्मचारी अधिकारी पूरे दिन मक्खियां उड़ाते नजर आए। यहां कुछ लोग लोग आवेदन करने पहुंचे, लेकिन डॉक्यूमेंट पूरे नहीं होने के कारण वापस लौट गए। वहीं, कुछ लोग केवल जानकारी लेने पहुंचे। इसी तरह जयपुर जेडीए में तो कैंप लगाने के बजाए सामान्य दिनों की तरह ही आवेदन लिए गए।

यहां लोग ये सोचकर आए कि कैंप में हाथों-हाथ आवेदन पत्र भरकर जमा करवा देंगे, लेकिन जेडीए कर्मचारियों ने लोगों को यह कहकर वापस लौटा दिया कि पहले ऑनलाइन आवेदन करें उसके बाद सभी ऑरिजनल डॉक्यूमेंट लेकर यहां आए।

जयपुर नगर निगम ग्रेटर के मालवीय नगर जोन में तो अधिकारी पूरे दिन खाली बैठे रहे और लोगों के आवेदन का इंतजार करते रहे। कुछ लोग मौके पर पहुंचे, लेकिन जानकारी लेकर चले गए। कई लोग डॉक्यूमेंट लेकर आए, लेकिन पूरे नहीं होने के कारण आवेदन पत्र लेकर वापस लौट गए। जयपुर नगर निगम ग्रेटर और हैरिटेज में आज करीब 24 वार्डो के कैंप लगाए गए है। इन कैंप में कच्ची बस्ती, स्टेट ग्रांट धारा 69-ए के पट्टे, जेडीए से नगर निगम ट्रांसफर हुई कॉलोनियों में शेष रहे पट्टे, खांचा भूमि आवंटन, अनरजिस्टर्ड पट्टे की वेलेडिटी बढ़ाने समेत अन्य कार्यों से जुड़े आवेदन लिए जाएंगे।

585 कॉलोनियों के लगाए फॉलोअप कैंप
जयपुर जेडीए में 585 कॉलोनियों के लिए आवेदन लेने की प्रक्रिया शुरू हुई है। ये वह कॉलोनियां है जिनके पहले कैंप लग चुके है और उनमें जिन लोगों ने अब तक मकानों के पट्‌टे नहीं लिए है उनसे आवेदन मांगे गए है। आज लोग जब जेडीए पहुंचे तो नागरिक सेवा केन्द्र में उन्हें यह कहकर वापस लौटा दिया पहले जेडीए की साइट पर ऑनलाइन आवेदन करें। इसके बाद ऑनलाइन अपोइंटमेंट लेकर यहां ऑरिजनल डॉक्यूमेंट लेकर पहुंचे। यहां डॉक्यूमेंट की जांच के बाद आवेदन पत्र स्वीकार किया जाएगा। जेडीए की इस व्यवस्था से लाेग असंतुष्ट नजर आए।

2 अक्टूबर को दिए जाएंगे पट्‌टे
जयपुर समेत पूरे प्रदेश में 2 अक्टूबर से अभियान की शुरूआत होगी। इससे पहले 15 से 25 सितम्बर तक लोगों से आवेदन लेने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। इनमें पट्‌टा जारी करने से लेकर, भवन मानचित्रों की अनुमति देने, भूखण्डों के सबडिविजन करने, बकाया लीज राशि का डिमांड लेटर जारी करने, लीज मुक्ति प्रमाण पत्र जारी करने, मकानों के नाम ट्रांसफर करने समेत अन्य कार्यो से जुड़े आवेदन लिए जाएंगे। आवेदन लेने के बाद इनकी तमाम कागजी कार्यवाही पूरी करने और पैसे जमा करने के बाद 2 अक्टूबर को पट्‌टे जारी करने, लीज मुक्ति प्रमाण पत्र जारी करने, नाम ट्रांसफर सर्टिफिकेट जारी करने की कार्यवाही की जाएगी।

खबरें और भी हैं...