• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Jaipur, Kota In The Red Zone From The Point Of View Of AQI, Here The Pollution Level Exceeds 300; In Jodhpur, Udaipur Also Remained More Than 250

राजस्थान के 7 शहरों में फैला प्रदूषण:जयपुर, कोटा रेड जोन में, यहां AQI 300 के पार ; जोधपुर, उदयपुर में भी 250 से ज्यादा रहा

जयपुर24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जयपुर में दीपावली के बाद से बिगड़ी आबोहवा अब भी ठीक नहीं हुई है। लगातार दूसरे दिन जयपुर एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI ) के हिसाब से रेड जोन में रहा। रेड जोन की इस सूची में जयपुर के साथ अब कोटा शहर भी शामिल हो गया है। इन दोनों शहरों में आज सुबह AQI 300 से ऊपर दर्ज हुआ। जयपुर, कोटा के अलावा जोधपुर, पाली, उदयपुर, अजमेर में भी हवा की गुणवत्ता खराब रही।

पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड से मिले डेटा को देखें तो कई इलाकों में जयपुर, कोटा, जोधपुर, उदयपुर, पाली, अलवर, भिवाड़ी में आज भी एयर क्वालिटी में कल की तुलना में थोड़ा सुधार आया है। आज इन शहरों में एक्यूआई लेवल थोड़ा घटा है, लेकिन अब भी इन शहरों में स्थिति खतरनाक है। आज अलवर में 213, भिवाड़ी 400, अजमेर में 179, उदयपुर 236 और पाली में प्रदूषण का 209 लेवल रहा। हालांकि जयपुर में 306 और कोटा में 309 प्रदूषण का लेवल रहा।

जबकि दीपावली के अगले दिन 5 नवंबर की सुबह अलवर 258, भिवाड़ी 414, कोटा 266, पाली 200, उदयपुर 236, जयपुर 370, जोधपुर 340 और अजमेर में एक्यूआई लेवल 271 रहा था। विशेषज्ञों की माने तो दीपावली की तुलना में अगले दिन आतिशबाजी कम होने के कारण पॉल्यूशन लेवल थोड़ा घटा है। वहीं आसमान में आज नमी कम होने और हवा चलने के कारण भी शुक्रवार की तुलना में आज मौसम साफ दिख रहा है।

AQI 100 से नीचे रहना अच्छा
किसी भी शहर का प्रदूषण लेवल 100 से नीचे रहना चाहिए। विशेषज्ञों की माने तो जिन लोगों के अस्थमा की शिकायत है या जिनके फेंफड़े कमजोर हैं उन लोगों को 100 से ज्यादा AQI होने पर सांस की तकलीफ होने की संभावना ज्यादा बढ़ जाती है। कोरोना से बीमार हुए वे मरीज, जिनके लंग्स ज्यादा डेमेज हो गए थे। उनके लिए प्रदूषण का स्तर बढ़ना ज्यादा घातक है।

कल तक और सुधर सकती है शहरों में हवा
विशेषज्ञों की माने तो मौसम में हवा चलने के शहरों का प्रदूषण स्तर और कम हो सकता है। क्योंकि हवा चलने से प्रदूषण एक जगह न जमकर आसमान में फैल जाता है और ऊपर चला जाता है। इसके अलावा मौसम जितना साफ होगा आसमान में प्रदूषण का स्तर उतना कम होगा।

खबरें और भी हैं...