पार्क की जमीन पर कब्जे का विरोध:विधायक और महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष दो घंटे तक धरने पर बैठे; मेयर और उपायुक्त के आश्वासन के बाद खत्म किया प्रदर्शन

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर में टोंक रोड स्थित मधुबन कॉलोनी में पार्क की जमीन पर अतिक्रमण के विरोध में धरने पर बैठे विधायक कालीचरण सराफ और अन्य लोग। - Dainik Bhaskar
जयपुर में टोंक रोड स्थित मधुबन कॉलोनी में पार्क की जमीन पर अतिक्रमण के विरोध में धरने पर बैठे विधायक कालीचरण सराफ और अन्य लोग।

जयपुर के टोंक रोड स्थित मधुबन कॉलोनी में एक पार्क की जमीन पर कब्जा करके उस पर नया निर्माण करने के विरोध में आज मालवीय नगर विधायक कालीचरण सराफ और महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष सुमन शर्मा समेत बड़ी संख्या में पार्षद और स्थानीय लोग धरने पर बैठ गए। करीब 2 घंटे तक चले इस प्रदर्शन का अंत कार्यवाहक मेयर शील धाबाई और मालवीय नगर के जोन उपायुक्त सुरेश चौधरी के मौके पर पहुंचकर दिए आश्वासन के बाद हुआ।

इस मौके पर मौजूद जयपुर नगर निगम ग्रेटर में भवन मानचित्र समिति के अध्यक्ष जितेन्द्र श्रीमाली ने बताया कि बजाज नगर हाउसिंग सोसायटी की बसाई मधुवन कॉलोनी टोंक रोड में पार्क के लिए जमीन खाली छोड़ रखी है। इस जमीन को जेडीए के ले-आउट प्लान में भी फेसेलिटी की जमीन दर्शाते हुए रेगुलाइजेशन (नियमन) किया गया है। लेकिन यहां कुछ दिन पहले एक स्थानीय व्यक्ति ने कब्जा करते हुए निर्माण शुरू कर दिया।

इसकी शिकायत जब नगर निगम प्रशासन को की तो निगम प्रशासन ने वहां काम बंद करवा दिया और गार्ड नियुक्त कर दिया, लेकिन रसूखात के दम पर व्यक्ति ने दोबारा निर्माण शुरू कर दिया।

मेयर ने मौके पर पहुंचकर दिया आश्वासन

विधायक के धरने की सूचना मिलते के करीब 2 घंटे बाद कार्यवाहक मेयर शील धाबाई धरना स्थल पर पहुंची। उन्होंने आश्वासन दिया कि वह इस मामले की तथ्यात्मक जांच करवाकर पार्क की जमीन का नोटिफिकेशन जारी करवाएगी। मेयर के साथ ही मालवीय नगर जोन के उपायुक्त सुरेश चौधरी भी वहां पहुंचे और उन्होंने भी इस मामले का तकनीकी परीक्षण करवाकर जल्द से जल्द कार्यवाही का आश्वासन दिया। जोन उपायुक्त ने स्वयं ने यह माना कि यह जमीन जेडीए के ले-आउट प्लान में पार्क के लिए आरक्षित है। उन्होंने बताया कि नियमानुसार कार्यवाही करते हुए जमीन पर जो नया निर्माण हुआ है उसे हटाया जाएगा।

प्रशासन शहरों के संग अभियान में मिली छूट का उठाना चाह रहे थे फायदा

नगर निगम की बीपीसी के चेयरमेन जितेन्द्र श्रीमाली ने बताया कि लोग सरकार के हाल ही में जारी हुए आदेशों का फायदा उठाना चाह रहे है। उन्होंने बताया कि सरकार ने हाल ही में प्रशासन शहरों के संग अभियान के दौरान एक आदेश जारी करते हुए कहा था कि जिन कॉलोनियों में फेसेलिटी एरिया की जमीन नियमानुसार कम है वहां भी कॉलोनियों का नियमन करते हुए भूखण्डों के पट्‌टे जारी किए जाएंगे। इसी आदेशों का फायदा उठाकर अब कई भूमाफिया फेसेलिटी की खाली जमीनों पर कब्जे करने में लगे हुए है।

खबरें और भी हैं...