• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Jaipur Police Action against Black Marketing Of Remdesivir Injection Selling An Injection For 15 Thousand Rupees, 6 Arrested

रेमडेसिविर की कालाबाजारी:जयपुर में 48 जगहों पर ग्राहक बनकर पहुंची पुलिस, 15 हजार रुपए में बेच रहे थे एक इंजेक्शन, गैंग के 6 सदस्य गिरफ्तार

जयपुर2 वर्ष पहले
जयपुर में रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वाले गिरोह के 6 सदस्य गिरफ्तार।

कोरोना की घातक दूसरी लहर के चलते रेमडेसिविर इंजेक्शन (Remdesivir Injections ) की किल्लत व भारी मांग के चलते इसकी कालाबाजारी जोरों पर है। इस बीच जयपुर पुलिस कमिश्नरेट की क्राइम ब्रांच (CST) ने शहर में करीब 48 जगहों पर ग्राहक बनकर छापेमारी की। इसमें पुलिस ने गैंग में शामिल मुरलीपुरा इलाके में एक मेडिकल स्टोर संचालक सहित छह लोगों को गिरफ्तार किया है। वहीं, एक आरोपी को कोतवाली थाना पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

अतिरिक्त पुलिस कमिश्नर अजयपाल लांबा और डीसीपी क्राइम दिगंत आनंद ने बुधवार को खुलासा करते हुए बताया कि करीब 15 हजार रुपए में एक इंजेक्शन बेचा जा रहा था। इसके लिए गैंग के दो सदस्यों विक्रम गुर्जर व शंकर माली ने गुड़गांव से करीब 725 रेमडेसिविर के इंजेक्शन मंगवाए थे। इसका कोई लाइसेंस नहीं है। फिलहाल पुलिस चार इंजेक्शन ही बरामद कर सकी है।

ये हैं गिरफ्तार आरोपी

1. जयप्रकाश वर्मा प्लाट नं. 31 शिव-नगर-5, माचरा रोड, पुलिस थाना मुरलीपुरा जयपुर

2. दलवीर सिंह निवासी प्लाट नं. 1ए. रामेश्वरम कॉलोनी, चरण नदी, मुरलीपुरा जयपुर

3. विकास मित्तल निवासी 2/216 विधाधर नगर, जयपुर

4. बसंत कुमार जांगिड़ निवासी प्लाट नं. 2ए. अयोध्यापुरी पुलिस थाना हरमाडा जयपुर

5. विक्रम गुर्जर निवासी 34 वृन्दावन विहार कॉलोनी थाना हरमाडा जयपुर

6. शंकर माली निवासी प्लाट नं. ए 8 श्याम मित्र मण्डल नगर, मुरलीपुरा जयपुर है

इस तरह पकड़ा गया कालाबाजारी करने वाला गैंग

डीसीपी ने बताया कि कालाबाजारी को रोकने के लिए पुलिस टीमें सादे वर्दी में करीब 48 जगहों पर गई। पुलिस टीम मुरलीपुरा इलाके में समर्थ मेडिकल स्टोर पर पहुंची। वहां इंजेक्शन की जरूरत बताई। तब मेडिकल स्टोर के मालिक जयप्रकाश वर्मा ने रेमडेसिविर के एक इंजेक्शन के लिए 15 हजार रुपए में सौदा किया। इसके बाद दलवीर सिंह नाम के युवक ने मेडिकल स्टोर मालिक जयप्रकाश वर्मा को 2 इंजेक्शन लाकर दिए।

पुलिस ने जयप्रकाश और दलवीर सिंह को हिरासत में ले लिया। पूछताछ में आरोपी दलवीर ने यह इंजेक्शन विकास मित्तल से लाना बताया है। पुलिस ने विकास मित्तल को भी गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद विकास ने बसंत जांगिड़ से इंजेक्शन खरीदना बताया। तब उसे भी अरेस्ट किया गया। इसके बाद बसंत ने दोनों इंजेक्शन विक्रम गुर्जर व शंकर माली से लेना बताया है।

गुड़गांव से खरीदकर लाए थे 725 रेमडेसिविर के इंजेक्शन

एडिशनल डीसीपी सुलेश चौधरी ने बताया कि आरोपियों से पूछताछ में खुलासा हुआ है कि विक्रम गुर्जर व शंकर माली गुड़गांव से 725 रेमडेसिविर इंजेक्शन खरीद कर लाए थे। यहां जयपुर शहर में ऊंची कीमतों पर दलालों के मार्फत इंजेक्शन को करीब 15 हजार रुपए में बेच रहे थे। यह कार्रवाई सीएसटी के प्रभारी पुलिस इंस्पेक्टर रविंद्र प्रताप सिंह, एएसआई द्वारका प्रसाद, हेडकांस्टेबल महिपाल सिंह, कांस्टेबल राजवीर सिंह, कांस्टेबल पवन काजला व अन्य पुलिसकर्मियों की टीम ने की।

खबरें और भी हैं...