भास्कर एक्सक्लूसिवजयपुर में प्रॉपर्टी कारोबारी के सुसाइड का VIDEO:बोला- बच्चों के लिए कमाया पैसा बिजनेस पार्टनर खा गए

जयपुर3 महीने पहलेलेखक: निखिल सिंह

जयपुर में एक प्रॉपर्टी डेवलपर ने जहर मिली कोल्ड ड्रिंक पीकर सुसाइड कर लिया। इसके 10 दिन बाद घर वालों को उसके मोबाइल में वीडियो सुसाइड नोट मिला है। इससे पूरे मामले में नया मोड़ आ गया है। इस सुसाइड नोट में उसने अपने बिजनेस पार्टनर्स पर धोखा देकर पैसे हड़पने का आरोप लगाया है। दैनिक भाास्कर के पास इसका एक्सक्लूसिव वीडियो मौजूद है।

कारोबारी ने जहर पीते हुए वीडियो भी बनाया था। वीडियो हाथ लगने के बाद करणी विहार थाने में कारोबारी के भाई ने दोनों बिजनेस पार्टनर्स के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज कराया है। कारोबारी का मुख्य काम प्रॉपर्टी डेवलप करके उसे बेचना था।

SI प्रदीप कुमार ने बताया कि प्रॉपर्टी कारोबारी राजू शर्मा(41) ने 9 अगस्त को सुसाइड किया था। वह श्याम एनक्लेव पांच्यावाला में अपनी पत्नी सुमित्रा और दो बेटे तरुण व कुनाल के साथ रहता था। घर में ही जहर पीने के बाद उसकी तबियत बिगड़ी तो परिजनों ने राजू को मालवीय नगर स्थित एक अस्पताल में भर्ती कराया। यहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। पुलिस को जांच में राजू के कमरे से जहर का पाउच मिला था।

प्रॉपर्टी कारोबारी राजू की मौत के बाद दुखी दोनों बेटे, पत्नी और मां।
प्रॉपर्टी कारोबारी राजू की मौत के बाद दुखी दोनों बेटे, पत्नी और मां।

सदमे से उबरने पर चेक किया मोबाइल, तब मिला वीडियो
राजू की मौत के बाद परिवार टूट गया। घर में जवान मौत के चलते परिवार एक-दूसरे का सहारा बन रहे थे। भाई की याद को ताजा करने के लिए जगदीश ने राजू का मोबाइल चेक किया तो मोबाइल में वीडियो सुसाइड नोट देखकर चौंक गया।

मोबाइल में मिले दो वीडियो में उसने बिजनेस पार्टनर बनवारी लाल और गणेश पर परेशान करने, धोखे से रुपए हड़पने और बरबाद करने के आरोप लगाए थे। वीडियो सुसाइड नोट मिलने पर मृतक राजू का भाई जगदीश करणी विहार थाने पहुंचा।

वीडियो सुसाइड नोट में प्रॉपर्टी कारोबारी राजू ने बिजनेस पार्टनर गणेश(बाएं) और बनवारी(दाएं) पर परेशान करने और बर्बाद करने का आरोप लगाया।
वीडियो सुसाइड नोट में प्रॉपर्टी कारोबारी राजू ने बिजनेस पार्टनर गणेश(बाएं) और बनवारी(दाएं) पर परेशान करने और बर्बाद करने का आरोप लगाया।

कुछ दिन सोचने-समझने की स्थिति में नहीं थे
प्रॉपर्टी कारोबारी के छोटे भाई जगदीश ने बताया कि इस घटना से मैं और मेरा परिवार गहरे सदमे में था। सोचने-समझने की स्थिति में नहीं थे। पिछले दिनों अचानक भैया का मोबाइल दिखा तो हमने उसे खोला। इसमें हमें दो वीडियो रिकॉर्डिंग मिली, तब जाकर कारण पता चला। इसके बाद हम पुलिस के पास पहुंचे।