महिला कर्मी से छेड़छाड़:जयपुरिया के अधीक्षक डॉ. राणावत हटाए गए, महिला कर्मचारी ने थाने में केस दर्ज कराया

जयपुर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
महिला उत्पीड़न की शिकायत पर जयपुरिया अस्पताल के अधीक्षक डॉ. एसएस राणावत को हटा दिया गया। - Dainik Bhaskar
महिला उत्पीड़न की शिकायत पर जयपुरिया अस्पताल के अधीक्षक डॉ. एसएस राणावत को हटा दिया गया।

महिला उत्पीड़न की शिकायत पर जयपुरिया अस्पताल के अधीक्षक डॉ. एसएस राणावत को हटा दिया गया। राणावत पर अस्पताल में कार्यरत एक महिला ने छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए 6 दिन पहले प्रिंसिपल सेक्रेटरी अखिल अरोड़ा को शिकायत दी थी। रविवार को महिला ने बजाज नगर थाने में मामला दर्ज कराया था। उधर, सरकार ने आयुक्त चिकित्सा शिक्षा शिवांगी स्वर्णकार की अध्यक्षता में जांच कमेटी का गठन किया गया है। डॉ. धर्मेश शर्मा को अधीक्षक बनाया गया है।

आरोप- केबिन में बुलाकर अभद्रता की

प्रिंसिपल सेक्रेटरी को दी शिकायत में महिला ने डॉ. राणावत पर गंभीर आरोप लगाए हैं। महिला का कहना है कि उसकी नियुक्ति 3 माह पहले अस्पताल में हुई थी। कुछ दिनों से अधीक्षक घर पर चाय के लिए दबाव बना रहे थे। अधीक्षक ने 1 अक्टूबर को 4 बजे कार्यालय में पत्रों के संबंध में चर्चा के लिए केबिन में बुलाया। इसी दौरान उन्होंने अभद्रता शुरू कर दी। इसी दौरान महीला के पति को इस संबंध में सूचना दी गई। पति के अस्पताल पहुंचने पर डॉ. राणावत अस्पताल से फरार हो गए।

जांच के लिए कमेटी गठित
चिकित्सा विभाग ने पूरे मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी को गठन किया है। इसमें आयुक्त चिकित्सा शिक्षा, शिवांगी स्वर्णकार को अध्यक्ष नियुक्त किया गया। वहीं डा डीएस मीना सदस्य और प्रभा ओम का सदस्य नियुक्त किया है। कमेटी को सात दिन में सरकार को रिपोर्ट देनी है।

उपाधीक्षक पद से भी हटाया
राणावत को जयपुरिया अस्पताल से हटाने के बाद अब सरकार ने एसएमएस अस्पताल में उपाधीक्षक पद से भी हटा दिया है। वहीं मामला मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया तक भी जाना तय है। यदि ऐसा होता है तो राणावत की मुश्किलें बढ़ना तय हैं। वहीं, आरएमसी की ओर से भी कार्रवाई होनी बाकी है।

खबरें और भी हैं...