• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • JCTSL Bus In Jaipur Free Tickets Given Of Freedom Fighters To 144 Normal Passengers After Collecting Fare, Now FIR Registered In Harmada Police Station

JCTSL बस के परिचालक का कारनामा:144 यात्रियों से किराया वसूल कर थमा दी स्वतंत्रता सेनानियों को रियायत वाली नि:शुल्क टिकट, 4 को बिना टिकट बैठाया, अब FIR दर्ज

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर में चलने वाली जेसीटीसीएल बस के परिचालक ने गड़बड़ी करते हुए करीब 55 हजार रुपए का गबन कर लिया - Dainik Bhaskar
जयपुर में चलने वाली जेसीटीसीएल बस के परिचालक ने गड़बड़ी करते हुए करीब 55 हजार रुपए का गबन कर लिया

शहर की सड़कों पर चलने वाली जयपुर सिटी ट्रांसपोर्ट सर्विसेज लिमिटेड (JCTSL) के बस परिचालक ने चालाकी दिखाते हुए विभाग को करीब 55 हजार रुपए का चूना लगा दिया। विभागीय कार्रवाई के बाद यह मामला अब पुलिस थाने तक पहुंच गया है। इस संबंध में जेसीटीएसएल के मैनेजर (यातायात) रमेश चंद शर्मा ने हरमाड़ा थाने में 6 अक्टूबर को FIR दर्ज करवाई है। यह मामला करीब एक महीने पहले का बताया जा रहा है।

मैनेजर ने FIR में बताया कि लोकेश चोपड़ा नाम का कर्मचारी जेसीटीसीएल में बस सारथी (परिचालक) है। वह सीकर रोड पर चलने वाली हरमाड़ा टोडी आगार की बसों में यात्रियों को टिकट वितरण का काम करता है। लोकेश चोपड़ा 3 सितंबर को भी ड्यूटी पर था। तभी जेसीटीसीएल के उड़न दस्ते ने हरमाड़ा इलाके में बस को रुकवाया। तब उड़न दस्ते की टीम ने बस में मौजूद सवारियों और टिकटों का मिलान किया।

जिसमें सामने आया कि लोकेश चोपड़ा ने टोड़ी आगार के रुट पर चलने वाली बस में 144 यात्रियों से सामान्य यात्री के लिए निर्धारित किराया वसूल कर लिया। उन सभी यात्रियों को स्वतंत्रता सेनानियों को रियायत दर पर बसों में यात्रा के लिए दी जाने वाली नि:शुल्क टिकट दे दी। इस तरह, करीब 30, 530 रुपए के टिकट की रकम वसूल कर जेसीटीसीएल में जमा करवाने के बजाए लोकेश ने अपनी जेब में डाल ली।

बस में चार यात्रियों के पास नहीं मिला टिकट, 18 हजार रुपए के टिकट भी गुम होना बताया

जांच में सामने आया कि लोकेश ने चार यात्रियों को टिकट दिए बगैर बस में नि:शुल्क यात्रा करवाई। इसके अलावा करीब 18 हजार रुपए के टिकटों का हिसाब नहीं मिला। जो कि गुम होना बताया गया। मामला विभाग तक पहुंचा। तब जेसीटीसीएल मुख्यालय ने लोकेश के खिलाफ विभागीय के अलावा कानूनी कार्रवाई करने का निर्णय लिया। तब डिपो मैनेजर रमेश चंद्र शर्मा ने बुधवार को हरमाड़ा थाने पहुंचकर केस दर्ज करवाया। वहीं, टिकटों का रिकॉर्ड भी पुलिस को उपलब्ध करवाया। केस की जांच हैडकांस्टेबल रिछपाल को सौंपी गई है।

खबरें और भी हैं...