पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मेडिकल स्टडीज:जोधपुर एम्स: फर्स्ट ईयर के 125 में से 45 छात्र अन्य राज्यों के, दिल्ली के बाद सबसे अच्छा एम्स

जयपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दिल्ली के मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज को भी छोड़कर हमारे एम्स में आए मेडिकल स्टूडेंट्स

प्रदेश की चिकित्सा शिक्षा के लिए अच्छी खबर है कि इस साल सिंगल एंट्रेंस एग्जाम होने के बाद भी छात्रों ने एम्स जोधपुर पर भरोसा जताया है। अच्छी रैंक पर छात्रों के पास दिल्ली व साउथ के अन्य टॉप कॉलेजों में दाखिला लेने का ऑप्शन था, लेकिन उन्होंने एम्स जोधपुर चुना। यहां तक कि दिल्ली के मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज को छोड़कर भी छात्रों ने जोधपुर में दाखिला लिया है।

इस साल भी दिल्ली के बाद बेस्ट ओपनिंग रैंक जोधपुर की रही है। नीट यूजी में 117 वीं रैंक हासिल करने वाले स्टूडेंट ने यहां एडमिशन लिया। एमसीसी की सेकंड राउंड काउंसलिंग के बाद जारी आंकड़ों पर नजर डाली जाए तो जिस छात्र को एम्स दिल्ली अलॉट हो सकता था, उसने जोधपुर चुना, वहीं उससे अधिक रैंक वाले छात्र को दिल्ली अलॉट हुआ है।

एम्स में दाखिला लेने वाले टॉप 20 स्टूडेंट्स में से नौ छात्र अन्य राज्यों के हैं। इनमें से तीन गुजरात, एक-एक छात्र दिल्ली, बिहार, एमपी, हरियाणा और तेलंगाना के हैं। शेष 11 राजस्थान के हैं। दरअसल, अब सिंगल एंट्रेंस एग्जाम के जरिए छात्र देश के किसी भी मेडिकल कॉलेज व एम्स में दाखिला ले सकते हैं। ऐसे में सभी एम्स की बात की जाए तो टॉपर्स के लिहाज से जोधपुर दूसरे स्थान पर है।

जिपमेर छोड़कर चुना जोधपुर, अन्य राज्यों से सीट्स भरना अच्छा संकेत

अमूमन माना जाता है कि छात्र अपने ही राज्य में अलॉटेड एम्स या मेडिकल कॉलेज में दाखिला लेता है। इसीलिए जोधपुर एम्स में बाहर के राज्यों के छात्रों का आना अच्छा संकेत है। इस साल एम्स ऑप्ट करने वाले छात्रों में से अधिकांश ने अलॉटमेंट के बाद इसी संस्थान में दाखिला लिया है। एम्स भोपाल की ओपनिंग रैंक भी जोधपुर से पीछे है। हायर रैंक वालों के पास इस साल जिपमेर का भी ऑप्शन था।

एम्स एंट्रेंस में 51 रहती थी ओपनिंग रैंक
इस साल से ही एम्स व जिपमेर एंट्रेंस को नीट यूजी में शामिल किया गया है। पिछले साल तक एम्स का एंट्रेंस एग्जाम अलग ही होता था। अनारक्षित श्रेणी में पहले 50 छात्र एम्स दिल्ली में एडमिशन लेने के बाद जोधपुर एम्स को ही चुनते हैं। सिंगल एंट्रेंस के बाद 117 ओपनिंग रैंक को काफी अच्छा बताया जा रहा है।

एकेडमिक माहौल बड़ा कारण
एम्स जोधपुर के एकेडमिक डीन डॉ. कुलदीप सिंह ने बताया कि फिलहाल दस दिन तक का ओरिएंटेशन प्रोग्राम चलेगा। फिर स्टडी हाइब्रिड मोड में शुरू होगी। बेहतर एकेडमिक माहौल व रिसर्च के कारण ही एम्स जोधपुर पर छात्रों का विश्वास बढ़ रहा है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई लाभदायक यात्रा संपन्न हो सकती है। अत्यधिक व्यस्तता के कारण घर पर तो समय व्यतीत नहीं कर पाएंगे, परंतु अपने बहुत से महत्वपूर्ण काम निपटाने में सफल होंगे। कोई भूमि संबंधी लाभ भी होने के य...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser