• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Join The M passport App, All The Police Stations Of The State, The Time Line Of Verification Has Been Reduced From 2 Weeks To One Week.

पुलिस वैरिफिकेशन अब एक हफ्ते में होगा:एम-पासपोर्ट एप से जुड़ें प्रदेश के सभी थाने, वैरिफिकेशन की टाइम लाइन 2 हफ्ते से कम होकर एक हफ्ता हुई

जयपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पासपोर्ट बनवाने के दौरान पुलिस वैरिफिकेशन की प्रक्रिया और टाइमलाइन को अब और सरल और कम कर दिया है। एम-पासपोर्ट एप के जरिए विदेश मंत्रालय ने राजस्थान के सभी थानों को जोड़ दिया है। इसी के जरिए पुलिस वैरिफिकेशन की रिक्वेस्ट भेजी जाएगी और उसी के जरिए रिपोर्ट थाने से आएगी। इस सर्विस का आज मुख्य सचिव निरंजन आर्य और विदेश मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव प्रभात कुमार ने लांच किया। इस मौके पर गृह सचिव सुरेश गुप्ता, विशिष्ट सचिव गृह वी. सरवन कुमार, क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी नीतू भगोतिया, पुलिस अधीक्षक शांतनु कुमार सिंह भी मौजूद थे। विदेश मंत्रालय के इस नवाचार से डिजीटल प्लेटफार्म पर पासपोर्ट का वैरिफिकेशन में न देरी होगी और विदेश जाने वाले लोग जल्द उड़ान भर सकेंगे। एक क्लिक पर पुलिस सत्यापन हो जाएगा।

इस एप के जरिए ही पासपोर्ट ऑफिस से पुलिस वैरिफिकेशन की फाइल ऑनलाइन ही संबंधित थाने में जाएगी। थाने में संबंधित अधिकारी और कांस्टेबल उस एप पर ही सभी जरूरी सवालों के जवाब देकर वैरिफिकेशन की प्रक्रिया को पूरी करेगा। अभी तक भौतिक रूप से वैरिफिकेशन के आवेदन और फाइल को संबंधित पुलिस अधीक्षक (एसपी) ऑफिस भेजा जाता था। एसपी ऑफिस से फाइल संंबंधित थाने में जाती थी। वहां पूरी प्रक्रिया पूरी होने और वैरिफिकेशन होने के बाद वापस फाइल थाने से एसपी ऑफिस आती और फिर वहां से पासपोर्ट ऑफिस। इस पूरी प्रक्रिया में 15 से 20 दिन का समय लगता था। नये सिस्टम में यह प्रक्रिया 7 से 10 दिन के अंदर पूरी हो जाएगी।

सभी थानों की हो गई मैपिंग

एम-पासपोर्ट एप में राज्य के सभी पुलिस थानों को एप से जोड़ कर मैपिंग कर दी है। इस एप में पुलिस सत्यापन के लिए अधिकतर सवालों का जवाब ‘हां’ या ‘नहीं’ में रिकॉर्ड किया जाता है। यह प्रक्रिया अधिक पारदर्शी और सुविधाजनक है। इस एप के उपयोग के लिए सभी पुलिस के सिपाहियों को ट्रेनिंग भी दी जाएगी।

खबरें और भी हैं...