दिव्यांगों के घर तक जयपुर फुट:पीएम के घर वडनगर से राजस्थान के जोधपुर तक का सफर, मोबाइल वैन से लगाए जा रहे कृत्रिम पांव

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति के संस्थापक व मुख्य संरक्षक पद्म भूषण डीआर मेहता। - Dainik Bhaskar
भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति के संस्थापक व मुख्य संरक्षक पद्म भूषण डीआर मेहता।

जयपुर फुट यूएसए की मातृ संस्था भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर उनके घर वडनगर से शुरू किया गया मोबाइल वैन से जयपुर फुट लगाने का सिलसिला लगातार जारी है। वडनगर और आसपास के क्षेत्रों में अब तक इस अभियान में 71 पांव लगाए जा चुके हैं। अब वैन गुजरात के वडनगर से रवाना होकर रविवार तक जोधपुर पहुंचेगी।

असल में जयपुर फुट यूएसए की ओर से इस वैन के माध्यम से जयपुर फुट यूएसए दिव्यांगों के द्वार अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान की शुरुआत जयपुर फुट यूएस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर उनके घर वडनगर (गुजरात से इसकी शुरुआत की थी। तब से अब तक वडनगर ओर आसपास के गांवाें, इलाकों में 71 पांव लगाए जा चुके हैं, जबकि 51 कैलिपर्स व 30 बैसाखियां वितरित की जा चुकी हैं। जयपुर फुट यूएसए के चेयरमैन प्रेम भंडारी ने बताया कि अब जयपुर फुट यूएसए भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति गुजरात में कोविड के हालात सामान्य होने पर राज्य सरकार के साथ मिलकर राज्य स्तरीय कैंप का आयोजन भी विचार किया जा रहा है। इस संबंध में भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति के संस्थापक व मुख्य संरक्षक पद्म भूषण डीआर मेहता से चर्चा हो चुकी है।

वडनगर में शुरुआत।
वडनगर में शुरुआत।

अब जोधपुर संभाग में घर-घर तक

प्रेम भंडारी ने बताया कि वडनगर से शुक्रवार को रवाना होकर मोबाइल वैन शनिवार देर शाम तक जोधपुर पहुंच जाएगी। दिव्यांग के घर तक जयपुर फुट लगाने का काम कर रही वैन से अब जोधपुर संभाग में कृत्रिम पांव लगाए जाएंगे। इनमें जोधपुर, बाड़मेर, जैसलमेर, सिरोही, पाली, जालौर आदि शामिल हैं।

17 साल के स्टूडेंट का कॉन्सेप्ट

असल में अब तक कैंप के जरिए जयपुर फुट लगाए जा रहे थे। कोविड के कारण यह काम रुक गया था, लेकिन अमेरिका में रह रहे जोधपुर के 17 साल के स्टूडेंट निखिल मेहता ने इस प्रकार मोबाइल वैन का कॉन्सेप्ट तैयार किया और यह वैन तैयार की गई। इससे घर-घर जाकर पांव लगाने का काम आसान हो गया है। इस वैन के बाद अब राजस्थान फाउंडेशन न्यूयॉर्क के अध्यक्ष केके मेहता की ओर से एक और मोबाइल वैन जयपुर फुट यूएसए को मिलने वाली है, जिससे इस काम को और आगे बढ़ाया जा सकेगा।

मोबाइल वैन, इसी से कृत्रिम पांव लगाए जा रहे हैं।
मोबाइल वैन, इसी से कृत्रिम पांव लगाए जा रहे हैं।

2019-20 में दुनिया में 39 हजार कृत्रिम पांव लगाए

प्रेम भंडारी ने बताया कि यदि हम आंकड़ों की बात करें तो इंटरनेशनल रेडक्रॉस सोसायटी ने 2019-20 में 14 सहायक संस्थाओं के माध्यम से विभिन्न देशों में 4839 पांव लगाए। जबकि भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति ने 31753 पांव भारत में लगाए और विदेश में 5783 पांव लगाए। इसे अब और वृहद स्तर पर ले जाया जा रहा है, ताकि दुनियाभर के दिव्यांगों को हर संभव मदद की जा सके।

खबरें और भी हैं...