1.90 लाख की रिश्वत लेते LDC और दलाल ट्रैप:नर्सिंग कॉलेज की मान्यता, सीट आवंटन और निरीक्षण में मदद के लिए मांगी रकम

जयपुर4 महीने पहले
एसीबी की गिरफ्त में आरोपी। - Dainik Bhaskar
एसीबी की गिरफ्त में आरोपी।

राजस्थान नर्सिंग काउंसिल जयपुर के LDC और प्राइवेट व्यक्ति को 1.90 लाख की रिश्वत लेते-देते मंगलवार दोपहर भष्टाचार निरोधक ब्यूरों (ACB) ने ट्रैप किया है। नर्सिंग कॉलेज की मान्यता, सीट आवंटन और निरीक्षण में मदद के एवज में रिश्वत ली जा रही थी। गिरफ्तार LDC और दलाल के घर और ठिकानों पर एसीबी टीम सर्च कर रही है।

एसीबी के DG बीएल सोनी ने बताया कि एसीबी टीम ने आरोपी नंद किशोर शर्मा (59) पुत्र बंशीधर शर्मा निवासी गोविन्दपुरा कालवाड़ रोड और प्राइवेट व्यक्ति बंशीलाल गुर्जर (33) पुत्र तेजाराम गुर्जर निवासी करेड़ा भीलवाड़ा को गिरफ्तार किया है। राजस्थान नर्सिंग काउंसिल जयपुर में नंद किशोर शर्मा LDC के पद पर कार्यरत है। फरवरी 2023 में नंद किशोर का रिटायरमेंट है। एसीबी को पता चला कि एक प्राइवेट व्यक्ति मंगलवार दोपहर को LDC नंद किशोर के ऑफिस में रिश्वत देने के लिए आ रहा है। एडिशनल एसपी बजरंग सिंह शेखावत ने नेतृत्व में एसीपी कमलनयन की टीम में ट्रैप कार्रवाई की गई।

LDC नंद किशोर शर्मा के ऑफिस में प्राइवेट व्यक्ति बंशीलाल गुर्जर के रिश्वत देकर निकलते ही एसीबी टीम ने उसको पकड़ लिया। पूछताछ में आरोपी दलाल ने बंशीलाल गुर्जर ने नंद किशोर शर्मा को नर्सिंग कॉलेज की मान्यता, सीट आवंटन और निरीक्षण में मदद के एवज में रिश्वत के 1.90 लाख रुपए देना कबूल किया। एसीबी टीम ने ऑफिस में बैठ LDC नंद किशोर को पकड़ा। जिससे रिश्वत के 1.90 लाख रुपए बरामद कर लिए गए।

एसीबी को मिली थी गोपनीय सूचना

एसीबी के ADG दिनेश एमएन ने बताया कि एसीबी को गोपनीय सूचना मिली थी कि LDC नंद किशोर शर्मा नर्सिंग कॉलेज की मान्यता, सीट आवंटन और निरीक्षण में मदद के एवज में दलालों से रिश्वत लेता है। सूचना पर एसीबी टीम ने नवम्बर 2021 से ही LDC नंद किशोर को मोबाइल सर्वलांस पर ले रखा था। रिश्वत लेने-देने का सौदा तय होने का सर्वलांस के जरिए एसीबी को पता चला। एसीबी टीम ने तुरंत ट्रेप का जाल बिछायाकर मंगलवार दोपहर रिश्वत लेते-देनते LDC नंद किशोर और दलाल बंशीलाल गुर्जर को पकड़ लिया।