पीएनबी बैंक के ATM को उखाड़ते हुए दो गिरफ्तार:YouTube पर वीडियो देखकर एटीएम उखाड़ना सीखा, कर्ज चुकाने के लिए बनाई योजना, गश्त करते हुए रात को पुलिस ने पकड़ा

जयपुर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जयपुर पुलिस ने गुरुवार देर रात एटीएम उखाड़ने वाले दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है। दोनों रात को केबिन के अंदर प्लास व पेचकस से एटीएम को उखाड़ रहे थे। पुलिस पूछताछ में पता लगा कि उन पर काफी कर्ज हो गया था। इसलिए एटीएम को उखाड़ने का प्लान बना लिया। इतना ही नहीं पहले दोनों ने यू ट्यूब पर वीडियो देखकर एटीएम उखाड़ना सीखा। पुलिस की गश्त के कारण बड़ी वारदात होने से बच गई।

डीसीपी ईस्ट प्रहलाद कृष्णिया ने बताया कि खोनागोरियान में एटीएम तोड़ने का प्रयास करते हुए बाबूमंडल (33) पुत्र निरंजन मंडल निवासी गांव बेलडांगा मुर्शिदाबाद पश्चिम बंगाल व राधेश्याम (35) पुत्र नंदराम रैगर निवासी बजरिया स्टेशन के पास गंगापुर सिटी सवाईमाधोपुर को गिरफ्तार किया है। ये दोनों रामगंज इलाके में काफी दिनों से रह रहे हैं। उन्होंने बताया कि ये दोनों गोनेर रोड पर पीएनबी बैंक के एटीएम को उखाड़ने का प्रयास कर रहे थे। रात को एएसआई झंडूराम, कांस्टेबल हरीनारायाण के साथ गश्त करते हुए वहां से गुजरे। पुलिस को दोनों एटीएम के अंदर दिखाई दिए। तभी पुलिस टीम ने दोनों को पकड़ लिया। इनके पास से प्लास, पेचकस व अन्य औजार भी बरामद हुए है।

पहले इंटरनेट पर सीखी पूरी तकनीक पर वह फेक निकली

पुलिस को दोनों ने पूछताछ में बताया कि पहले इन्होंने इंटरनेट पर यूटयूब से एटीएम को उखाड़ने के बारे में जानकारी ली। वीडियों को देखकर इन्होंने एटीएम को निकालने की पूरी प्रक्रिया को समझ लिया था। एटीएम उखाड़ने के बारे में पूछा तो उन्होंने बताया कि दोनों पर काफी कर्ज हो गया था। आर्थिक स्थिति काफी खराब हो गई थी। तब इन्होंने एटीएम तोड़ने की प्लानिंग बना ली थी। बदमाशों का यह भी कहना था कि जो प्रक्रिया उन्होंने यूट्यूब से सीखी थी, वह फेक निकली। भरपूर प्रयास के बावजूद भी वे उस प्रक्रिया से ATM उखाड़ नहीं पाए। यदि वह सही होती तो हम पकड़े भी नहीं जाते और पुलिस के आने से काफी देर पहले ही निकल चुके होते।

खबरें और भी हैं...