पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मंत्री पर दलित विधायकों की अनदेखी का आरोप:विधायक बैरवा अनदेखी से नाराज; डोटासरा से मिले

जयपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पीसीसी चीफ से बोले-रघु शर्मा जनता की नहीं सुनते हैं, उनका महकमा बदलो; मिला भरोसा

कांग्रेस के दलित विधायक बाबूलाल बैरवा ने सरकार में अपनी अनदेखी की शिकायतों को लेकर मंगलवार शाम पीसीसी अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा से उनके आवास पर मुलाकात की। दोनों के बीच करीब आधा घंटे तक मुलाकात हुई।

बैठक के बाद डोटासरा ने कहा कि बैरवा की सभी बातें ध्यानपूर्वक सुनी गई और उन्हें आश्वासन दिया है कि आगे से उन्हें इस बात की शिकायत नहीं होगी कि उनकी पार्टी में अनदेखी हो रही है। बैरवा ने कहा कि डोटासरा ने मेरी बात ध्यान से सुनी और कहा कि उनकी इस मामले में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से बात हो चुकी और आगे से मेरे सभी कामों की जिम्मेदारी उनकी होगी।

बैरवा ने कहा कि इससे पहले साेमवार शाम को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से भी उनकी बात हुई। बैरवा ने बताया कि गहलोत उन्हें आश्वासन दिया कि सीएमओ के अधिकारियों के स्तर पर उनकी सुनवाई की जाएगी। बैरवा ने कहा कि यदि रघु शर्मा लोगों से नहीं मिलते हैं तो इनका महकमा बदलना चाहिए। बैरवा अलवर के कठूमर विधानसभा से आते हैं। सोमवार को उन्होंने बयान दिया कि सरकार के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा व बीडी कल्ला दलित विधायकों की सुनवाई नहीं कर रहे हैं।

  • जिन मुद्दाें काे लेकर बाबूलाल बैरवा की नाराजगी थी उन्हें ध्यानपूर्वक सुना गया। बैरवा को भरोसा दिलाया है कि सरकार में किसी दलित विधायक की अनदेखी नहीं होगी। वे भी पूरी तरह संतुष्ट होकर गए हैं। - गोविंद सिंह डोटासरा, प्रदेशाध्यक्ष कांग्रेस

विवादों की जड़ ट्रांसफर
बैरवा ने कहा है कि जब भी मैं दलितों के काम के लिए कोई कागज देता हूं वह काम नहीं होता है। अभी स्वास्थ्य विभाग में ही 4 ट्रांसफर दिए थे। जिसमें से एक ब्राह्मण थे और 3 दलित थे। उन्होंने कहा कि ब्राह्मण का टाइटल देखकर उसका ट्रांसफर कर दिया गया, जबकि तीनों दलितों का ट्रांसफर नहीं हुआ।

खबरें और भी हैं...