REET रद्द करने के विरोध में खून से लिखा लेटर:लेवल-2 के अभ्यर्थी बोले- भर्ती प्रक्रिया को बहाल करे सरकार

जयपुर2 महीने पहले

राजस्थान में रीट परीक्षा को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। एक और जहां शिक्षा विभाग लेवल-1 के 15 हजार 500 पदों पर 25 मई तक नियुक्ति देने कि तैयारी कर रही है। वहीं, लेवल-2 की परीक्षा को बहाल करने की मांग को लेकर अब विरोध तेज हो गया है। रविवार को रीट लेवल-2 के छात्रों ने खून से लेटर लिख लेवल-2 की परीक्षा बहाल करने की मांग की। करौली में इसका एक वीडियो भी सामने आया है।

रीट लेवल-2 बहाल करने की मांग को लेकर अभ्यर्थी खून से लेटर लिख कर रहे प्रदर्शन।
रीट लेवल-2 बहाल करने की मांग को लेकर अभ्यर्थी खून से लेटर लिख कर रहे प्रदर्शन।

इसके साथ सोशल मीडिया पर रीट लेवल-2 के सैकड़ों अभ्यर्थी #REET_L2_को_बहाल_करो के साथ खून से लिखे लेटर शेयर कर रहे है। छात्रों ने आरोप लगाया कि बेईमानी करने वाले आरोपियों को सरकार ने पकड़ लिया है। ऐसे में जिन लोगों ने मेहनत कर रीट लेवल-2 अच्छे नंबर हासिल किए हैं। उन्हें नियुक्ति पुरानी भर्ती प्रक्रिया के तहत ही मिलनी चाहिए। ऐसे में अगर सरकार लेवल-2 की भर्ती प्रक्रिया को बहाल नहीं करेगी। प्रदेश के 7 लाख से ज्यादा बेरोजगारों के साथ अन्याय होगा। जिसका नुकसान सरकार को आने वाले चुनाव में उठाना पड़ेगा।

इस तरह सोशल मीडिया पर चल रहा है अभियान।
इस तरह सोशल मीडिया पर चल रहा है अभियान।

रद्द की गई थी लेवल-2 की परीक्षा
राजस्थान में 31 हजार पदों के लिए 25 लाख से ज्यादा अभ्यर्थियों की पिछले साल सितंबर को रीट परीक्षा आयोजित कराई गई थी। इसके 36 दिन बाद रीट का रिजल्ट जारी कर दिया गया था। इसमें से 11 लाख चार हजार 216 को पात्र घोषित किया गया था।

इनमें लेवल-1 के लिए 3 लाख तीन हजार 604 और लेवल-2 के लिए 7 लाख 73 हजार 612 को पात्र घोषित किया गया था। भर्ती परीक्षा का परिणाम जारी होने के बाद लेवल-2 के पेपर के लीक होने सबंधी विवाद में सरकार ने लेवल-2 की परीक्षा को रद्द कर दिया। जिसके बाद से ही छात्र लेवल-2 की परीक्षा को बहाल करने की मांग कर रहे है।

जाने क्या है लेवल-1 और लेवल-2
राजस्थान में ग्रेड थर्ड टीचर्स के लिए लेवल-1 और लेवल-2 दो अलग-अलग परीक्षा आयोजित की जाएगी। इसमें लेवल-1 की परीक्षा में सिर्फ एसटीसी किए हुए उम्मीदवार आवेदन कर सकेंगे। इन्हें कक्षा 1 से 5वीं क्लास तक पढ़ाने का मौका मिलेगा।

वहीं, लेवल-2 की परीक्षा के लिए सिर्फ बीएड डिग्रीधारी उम्मीदवार ही आवेदन कर सकेंगे। इन्हें कक्षा 6 से 8 के विद्यार्थियों को पढ़ने का मौका मिलेगा। लेवल-1 और लेवल-2 दोनों ही परीक्षा के पेपर अलग अलग परियों में आयोजित किए जाएंगे।