राजस्थान में मानसून फिर एक्टिव:चूरू में बिजली गिरी, धौलपुर में 4 इंच बारिश; एक-दो दिन तेज बरसात का अलर्ट

जयपुर15 दिन पहले

राजस्थान के पश्चिमी हिस्से से भले ही मानसून विदा हो गया हो, पूर्वी राजस्थान के कई इलाकों में अब भी अच्छी बारिश हो रही है। ऐसा बंगाल की खाड़ी में लो-प्रेशर सिस्टम बनने के कारण है। भरतपुर, जयपुर, कोटा और उदयपुर संभाग के 12 से ज्यादा जिलों में कल भी बारिश हुई। मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि इस सिस्टम का असर अगले 2 दिन और रह सकता है। इसके कारण इन इलाकों में बरसात का दौर जारी रहेगा।

चूरू जिले की तारानगर तहसील के गांव चलकोई में बुधवार को बारिश के दौरान आकाशीय बिजली गिरने से ससुर-बहू घायल हो गए। इस दौरान खेत में बैठी करीब 20 से ज्यादा बकरियों की मौत हो गई।

मौसम केंद्र जयपुर से मिली रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 24 घंटे के दौरान सबसे ज्यादा बरसात धौलपुर में हुई, जहां 119MM (4 इंच से ज्यादा) पानी बरसा। तेज बारिश से धौलपुर कस्बे में जगह-जगह पानी भर गया। धौलपुर शहर के अलावा राजाखेड़ा, सैंपऊ, बसेड़ी और मनिया एरिया में भी अच्छी बरसात हुई।

तेज बारिश का दौर भरतपुर, करौली में भी देखने को मिला। यहां 2 से 3 इंच तक बरसात हुई। उधर, गुरुवार सुबह से जयपुर, भरतपुर, कोटा, उदयपुर के अलावा अजमेर संभाग के कई जिलों में बादल छाए रहे।

इन जिलों में हुई बरसात
राजस्थान में पिछले 24 घंटे के दौरान धौलपुर, भरतपुर के अलावा उदयपुर, सीकर, चूरू, कोटा, सवाई माधोपुर, झुंझुनूं, जयपुर, डूंगरपुर, दौसा, बारां, बांसवाड़ा और बारां जिले के कई हिस्सों में बारिश हुई। अलवर में कई जगहों पर एक से दो इंच तक बारिश होने से सड़कों पर पानी भर गया। भरतपुर में भी उच्चैन, बयाना, कुम्हेर एरिया में तेज बरसात दर्ज की गई।

अगले एक सप्ताह तक डटा रहेगा मानसून
प्रदेश के पश्चिमी हिस्से बीकानेर, जोधपुर, जैसलमेर और बाड़मेर के कुछ हिस्सों से भले ही मानसून विदा हो गया हो, लेकिन अभी आगामी एक सप्ताह तक राज्य के शेष हिस्सों से मानसून के विदा होने के कोई परिस्थितियां अनुकूल नहीं है।

मौसम वैज्ञानिक और जयपुर मौसम केंद्र के निदेशक राधेश्याम शर्मा ने बताया कि मध्य प्रदेश के ऊपर बने एक साइक्लोनिक सिस्टम के कारण मध्य भारत में मानसून की गतिविधियां फिर से बढ़ी हैं, जिसके कारण ही ये बारिश का दौर शुरू हुआ है, जो अगले कुछ दिन जारी रहेगा।

अब आगे क्या?

जयपुर मौसम केन्द्र ने गुरुवार को अजमेर, अलवर, बांसवाड़ा, बारां, भरतपुर, भीलवाड़ा, बूंदी, चित्तौड़गढ़, दौसा, धौलपुर, जयपुर, झालावाड़, झुंझुनूं, करौली, कोटा, सवाई माधोपुर, सीकर और टोंक जिलों में कहीं-कहीं 40 किलोमीटर स्पीड तक तेज हवाएं चलने के साथ बारिश होने और बिजली चमकने की चेतावनी जारी की है।

इसी तरह 23 सितंबर को टोंक, सीकर, सवाई माधोपुर, कोटा, करौली, झुंझुनूं, झालावाड़, जयपुर, धौलपुर, दौसा, चित्तौड़गढ़, बूंदी, भीलवाड़ा, भरतपुर, बारां और अलवर जिलों में कहीं-कहीं हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश होने की संभावना जताई है।