• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Mahendra Chaudhary Said The Question Of Change Of Leadership Does Not Arise In Rajasthan, Babulal Nagar Said Gehlot Is Necessary For Rajasthan, If The Pilots Go According To The Party, They Will Remain A Heritage

गहलोत समर्थक MLA फिर मुखर:महेंद्र चौधरी बोले- राजस्थान में नेतृत्व परिवर्तन का सवाल ही नहीं उठता, बाबूलाल नागर बोले- पायलट पार्टी के हिसाब से चलेंगे तो धरोहर रहेंगे

जयपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गहलोत समर्थक निर्दलीय बाबूलाल नागर  और सरकारी उप मुख्य सचेतक महेंद्र चौधरी। - Dainik Bhaskar
गहलोत समर्थक निर्दलीय बाबूलाल नागर और सरकारी उप मुख्य सचेतक महेंद्र चौधरी।

कांग्रेस शासित पंजाब में मुख्यमंत्री बदलने के बाद अब राजस्थान में भी सुगबुगाहट तेज हो गई है। इस बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत समर्थक विधायक ने नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों से इनकार किया है। विधायक महेंद्र चौधरी ने कहा कि राजस्थान में नेतृत्व फेरबदल का सवाल ही नहीं उठता है। गहलोत पूरे 5 साल सरकार चलाने में सक्षम है।

चौधरी ने कहा कि राजस्थान में 125 विधायक गहलोत के नेतृत्व में एकजुट हैं। उनके नेतृत्व में सरकार का काम अच्छा चल रहा है। जनता भी खुश है। कोरोनाकाल में जिस तरह सरकार ने काम किया है, उसकी प्रधानमंत्री तक ने तारीफ की है। गहलोत ने अस्वस्थ रहने के बावजूद प्रदेश का पूरा ध्यान रखा है।

महेंद्र चौधरी ने आगे कहा कि अभी जिला परिषद, पंचायत समिति के चुनाव हुए हैं, उसमें कांग्रेस को बहुमत मिला है। इन चुनावों में गहलोत के कामों के बल पर ही कांग्रेस को बहुमत मिला है। नेतृत्व परिवर्तन की चर्चाओं पर चौधरी ने कहा कि राजस्थान में बेस्ट काम हो रहा है। इसे कांग्रेस हाईकमान भी जानता है। प्रभारी अजय माकन को भी विधायकों ने यही फीडबैक दिया था, सभी विधायक गहलोत सरकार के काम से खुश हैं। 125 विधायक गहलोत के नेतृत्व में एकजुट हैं।

नागर ने कहा- हम सबकी प्राथमिकता अशोक गहलोत
वहीं, गहलोत समर्थक निर्दलीय विधायक बाबूलाल नागर ने कहा- 'हम सबकी प्राथमिकता अशोक गहलोत हैं। इसलिए आप अन्य राज्यों की तरह राजस्थान को नहीं देख सकते। राजस्थान के लिए अशोक गहलोत जरूरी हैं। आज जो देश में हालात हैं और अमित शाह, मोदी ने अन्य राज्यों में हथकंडे अपनाए हैं, उनमें मुकाबला गहलोत ही कर सकते हैं। राजस्थान में केवल गहलोत ही एकमात्र ऐसे नेता हैं जो पांच साल सरकार को कायम रखने में समर्थ हैं।'

पायलट निष्ठा से काम करेंगे तो कांग्रेस की धरोहर बने रहेंगे
नागर ने आगे कहा, 'डेढ़ साल तक मंत्रिमंडल पुनर्गठन और विस्तार का समय नहीं था, मंत्रिमंडल विस्तार का समय तो अब आया है। अब तक डेढ़ साल तो कोरोना से लड़ने का समय था। कोरोनाकाल में तो सरकार का ध्यान लोगों की जान बचाने पर था। सचिन पायलट को लेकर नागर ने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं कि सचिन पायलट युवा नेता हैं और अगर कांग्रेस में निष्ठा के साथ काम करते रहेंगे तो लंबे समय तक कांग्रेस की धरोहर के रूप में रहेंगे। मैं यह समझता हूं कि हाईकमान जहां उन्हें अवसर दें, वहां उन्हें काम करना चाहिए।'

खबरें और भी हैं...