पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Manish Saini Gang Four Mambers Arrested By Jaipur CST Police Team, All Abscond And Threatening For Extortion To Businessman

फरारी में रंगदारी मांगने वाले दबोचे:हिस्ट्रीशीटर मनीष सैनी उसका भाई और गैंग के चार बदमाश गिरफ्तार, 26 मुकदमे जयपुर में शहर में दर्ज हैं

जयपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर पुलिस की गिरफ्त में हिस्ट्रीशीटर मनीष सैनी और उसका भाई अक्षय सैनी - Dainik Bhaskar
जयपुर पुलिस की गिरफ्त में हिस्ट्रीशीटर मनीष सैनी और उसका भाई अक्षय सैनी
  • तीन इलाकों में जानलेवा हमले के मुकदमे में फरार चल रहा था मनीष सैनी व अन्य

शहर में हत्या के प्रयास के कई मुकदमों में फरार चल रहे हिस्ट्रीशीटर मनीष सैनी और उसके सगे भाई सहित गैंग के चार बदमाशों को पुलिस ने मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया। जयपुर पुलिस कमिश्नरेट की स्पेशल टीम की सूचना पर जयपुर के खोनागोरियान इलाके से बदमाशों को धरदबोचा। फरारी के दौरान मनीष सैनी और उसकी गैंग के बदमाश फरारी के दौरान रंगदारी वसूलने के लिए कई लोगों को धमकियां दे रहे थे। मनीष सैनी जयपुर में हिस्ट्रीशीटर है। उसके खिलाफ जयपुर शहर में गंभीर आपराधिक वारदातों के 26 मुकदमे दर्ज है।

डीसीपी (क्राइम) दिगंत आनंद ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी मनीष सैनी (30) और अक्षय सैनी (20) सगे भाई है। ये दोनों विनोबा विहार, मॉडल टाउन, मालवीय नगर, जयपुर में रहते है। जबकि, तीसरा आरोपी राकेश सैनी (30) आनंदपुरी, मोतीडूंगरी में रहता है। चौथा आरोपी चन्दन सिंह भाटी उर्फ सुरेन्द्र सिंह (27) निवासी गांव अजमेरी, तहसील श्रीमाधापुर जिला सीकर का है। पांचवां आरोपी उजागर सिंह (32) निवासी सत्यनगर झोटवाड़ा रहता है।

मनीष सैनी गैंग में शामिल तीन अन्य बदमाश।
मनीष सैनी गैंग में शामिल तीन अन्य बदमाश।

डीसीपी दिगंत आनंद के मुताबिक मनीष सैनी व अक्षय सैनी सगे भाई है। ये दोनों अपनी गैंग के चंदन सिंह व राकेश सैनी के साथ आमेर, आदर्श नगर व मानसरोवर इलाके में जानलेवा हमले की वारदातें कर चुके है। इनमें पुलिस तलाश कर रही थी। मनीष सैनी पर आरोप है कि वह प्रदेश और बाहरी राज्यों के बदमाशों को संरक्षण दे चुका है। इन चारों बदमाशों को सीएसटी ने आमेर थाना पुलिस को सौंपा है।

हथियार सप्लाई, वाहन चोरी के मुकदमो में सीकर व जयपुर पुलिस का वांटेड था उजागर सिंह

एडिशनल डीसीपी सुलेश चौधरी ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी उजागर सिंह जयपुर में सिंधीकैंप में वाहन चोरी और झोटवाड़ा में दर्ज एक मुकदमे और सीकर जिले में गैंगस्टर राजू ठेठ के भाई ओमी ठेठ को हथियार सप्लाई करने के मुकदमे में फरार चल रहा था। वह पुलिस को चकमा देने के लिए गाडियां बदलता रहता है। वह नीमकाथाना, जिला सीकर में फरारी काट रहा था। उजागर सिंह को झोटवाड़ा थाना पुलिस के सुपुर्द किया है।

मनीष सैनी गैंग के बारे में जानकारी देते हुए जयपुर पुलिस कमिश्नरेट के डीसीपी क्राइम दिगंत आनंद और एडिशनल डीसीपी सुलेश चौधरी
मनीष सैनी गैंग के बारे में जानकारी देते हुए जयपुर पुलिस कमिश्नरेट के डीसीपी क्राइम दिगंत आनंद और एडिशनल डीसीपी सुलेश चौधरी