टीचर की पिटाई से बच्चे की मौत पर भास्कर पोल:लोगों की राय-ट्रेनिंग और मनोवैज्ञानिक जांच के बाद ही हो टीचर की ज्वॉइनिंग

जयपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
13 साल का गणेश,जिसकी टीचर की पिटाई से मौत हो गई। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
13 साल का गणेश,जिसकी टीचर की पिटाई से मौत हो गई। (फाइल फोटो)

राजस्थान के चूरू में टीचर की पिटाई से 7वीं क्लास के बच्चे की बुधवार को मौत हो गई। बच्चे को केवल होमवर्क ना करने करने पर टीचर ने पटक-पटक कर मार डाला। बच्चा सालासर थाना क्षेत्र के गांव कोलासर का रहने वाला था। बच्चे की मौत ने कई सवाल खड़े कर दिए। भास्कर ने पोल करवाया तो,मौत के लिए टीचर को जिम्मेदार ठहराया गया। लोगों ने कहा कि टीचरों की नियमित ट्रेनिंग,मनोवैज्ञानिक जांच के साथ ही स्कूल प्रबंधन को स्टूडेंट और टीचर पर नजर रखनी होगी।

भास्कर पोल में 36 प्रतिशत लोगों ने राय दी टीचरों की नियमित ट्रेनिंग हो,जिससे वह बच्चों के प्रति संवेदनशील बनें। स्कूल प्रबंधक स्टूडेंट और टीचर पर नजर रखें। जिस पर 34 प्रतिशत मत आए। वहीं 26 प्रतिशत ने कहा कि स्कूल में नियुक्त करने पहले मनोवैज्ञानिक जांच होनी चाहिए। 96 में से 4 प्रतिशत ने कहा कि छोटे बच्चों को होमवर्क के बोझ से दूर रखना चाहिए।

संस्कृत का होमवर्क नहीं करने पर लात-घूसों से मारा
मामला सालासर थाना क्षेत्र के कोलासर गांव के मार्डन स्कूल में 7वीं क्लास के बच्चे गणेश की मौत का है। 13 साल का गणेश संस्कृत का होमवर्क करके नहीं गया था। जिस पर आरोपी टीचर मनोज ने थप्पड़ मारा और जमीन पर पटक कर लात-घूसे और डंडे से वार किया। बच्चे के सिर,आंख,मुंह पर गहरी चोट आने से मौत हो गई। पुलिस ने टीचर को गिरफ्तार किया है। शिक्षा विभाग की टीम गुरुवार को स्कूल जाकर बच्चों और टीचर के बयान ले रही है।

छात्रा ने बताया- मनोज सर ने गणेश को उठा-उठाकर पटका, जिससे उसकी जान गई

प्राइवेट स्कूल में 7वीं के स्टूडेंट को पीटकर मार डाला; टीचर अरेस्ट, स्कूल की मान्यता रद्द

मां ने लंच बॉक्स देकर कहा था- पूरा खाना खाकर आना, बेटे का शव देखकर बुरा हाल

खबरें और भी हैं...