मानसून; राह देखता राजस्थान:पारा 40° पार, उमस 70% तक; यह अगले दो-तीन दिन बारिश के लिए अच्छे संकेत

जयपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तस्वीर अजमेर से पाली जाते समय सोजत के पास सेंदड़ा गांव की। यहां बारिश के बाद सड़कों में भरा पानी और आसमान में उमड़ते बादल मानो इशारा कर रहे हों कि मानसून द्वार पर है। फोटो -महेंद्र शर्मा - Dainik Bhaskar
तस्वीर अजमेर से पाली जाते समय सोजत के पास सेंदड़ा गांव की। यहां बारिश के बाद सड़कों में भरा पानी और आसमान में उमड़ते बादल मानो इशारा कर रहे हों कि मानसून द्वार पर है। फोटो -महेंद्र शर्मा

मानसून का इंतजार कर रहे राजस्थान के लिए अच्छी खबर है। मानसून आगमन के लिए प्रदेश में अनुकूल बनी हुई हैं। माैसम विभाग के अनुसार अगले 48 से 72 घंटे में मानसून पूरब से एंट्री करेगा। माैसम विभाग के निदेशक आरएस शर्मा के अनुसार, मानसून की उत्तरी रेखा गुजरात और राजस्थान के काेटा संभाग के पास से गुजर रही है। बंगाल की खाड़ी से आने वाली पूर्वी हवाओं के ज्यादा सक्रिय हाेने और मानसून के पश्चिमी दिशा की ओर बढ़ने की परिस्थितियां अनुकूल हैं। इधर, बारिश के इंतजार के बीच प्रदेश में उमस बढ़ गई है।

बीते 24 घंटे में 24 शहराें में दिन का पारा 40 डिग्री से ऊपर रहा। कई शहराें में आर्द्रता यानी उमस 70% तक पहुंच गई। हालांकि यह मानसून से पहले अगले दो दिन अच्छी बारिश का संकेत है। क्याेंकि उमस लो प्रेशर एरिया बनाती है। इससे बादलों को नमी मिलती है और बारिश की संभावना बढ़ जाती है। दक्षिणी-पूर्वी राजस्थान के ऊपर एक सर्कुलेशन सिस्टम बनने के कारण यह उमस बढ़ी है।

अगले 24 घंटे में भरतपुर, उदयपुर व काेटा संभाग में मध्यम बारिश के आसार हैं। 29-30 जून काे बारां, चित्ताैड़, झालावाड़, काेटा में भारी बारिश का येलाे अलर्ट है। बीकानेर व जाेधपुर संभाग में 29 जून से बारिश के आसार हैं।

खबरें और भी हैं...