पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मेडिकल शिक्षा विभाग की गाइडलाइन जारी:अस्पतालों में संक्रमण रोकने के लिए ‘माइक्रो बायोलोजिकल सर्विलेंस’

जयपुर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सरकार ने एसएमएस जयपुर सहित अन्य जिलों में सुविधाओं के विस्तार के निर्देश दिए

मेडिकल कॉलेज से जुड़े अस्पतालों में बच्चों की हो रही मौत के मामले को गंभीरता से लिया है। भास्कर में 16 फरवरी को ‘जेके लोन : सेप्टीसीमिया -वेंटीलेटर कमी से हर साल 2 हजार बच्चों की मौत’ खबर प्रकाशित हुई है। बच्चों की मौत होने के प्रमुख कारणों में प्री-मेच्योर, सेप्टीसीमिया, कम वजनी, एमआरआई-सीटी स्कैन जांच सुविधा नहीं होना, गंभीर हालत में रैफर करना आदि है। लगातार हो रही बच्चों की मौत पर सरकार की ओर से एसएमएस जयपुर, अजमेर, जोधपुर, उदयपुर और कोटा में हो रही बच्चों की मौतों पर नियंत्रण करने के लिए सुविधाओं का विस्तार के साथ पुख्ता इंतजाम करने के निर्देश दिए है।

ये निर्देश : मौतों पर नियंत्रण करने के लिए सुविधाओं का विस्तार व इंतजाम करें

  • गंभीर मरीजों की आईसीयू में साफ-सफाई के साथ बायोमेडिकल वेस्ट मैनेजमेंट का नियमानुसार निस्तारण ।
  • एनआईसीयू, पीआईसीयू और एसएनआईसीयू में कमरे का तापमान नियमित मेन्टेन रखना।
  • संक्रमण फैलने की संभावना को देखते हुए नियमित रूप से माइक्रोबायोलोजिकल सर्विलेंस।
  • अस्पतालों में एनआईसीयू में बैड और वार्मर की उपलब्धता की सुनिश्चतता।
  • वार्मर खराब होने की स्थिति में पहले से रिजर्व रखना।
  • नवजात बच्चों के इलाज के उपचार के समय डॉक्टर, नर्सेज और कोरोना संक्रमण फैलने से रोकने का इंतजाम।
  • वार्ड, आईसीयू में नियमित रूप से बैडशीट को रोजाना बदलना।
  • शिशु के जन्म के बाद मां और नवजात शिशु को पोस्टनेटल वार्ड में रखना।
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आर्थिक दृष्टि से आज का दिन आपके लिए कोई उपलब्धि ला रहा है, उन्हें सफल बनाने के लिए आपको दृढ़ निश्चयी होकर काम करना है। कुछ ज्ञानवर्धक तथा रोचक साहित्य के पठन-पाठन में भी समय व्यतीत होगा। ने...

    और पढ़ें