जयपुर में लाइफस्टाइल पर हुई वर्कशॉप:100 से भी अधिक बच्चे हुए शामिल, अनिल परचानी और डॉक्टर प्रभात ने दी टिप्स

जयपुर4 महीने पहले

जेईसीआरसी के इंटरनेशनल एसोसिएशन फॉर द एक्सचेंज ऑफ स्टूडेंट्स फॉर टेक्निकल एक्सपीरिएंस की ओर से वर्कशॉप आयोजित हुई। इसमें 100 से भी अधिक बच्चों ने हिस्सा लिया। अनिल परचानी , प्रख्यात लेखक , हेल्थ कोच और न्यूट्रीशनिस्ट और डॉ प्रभात पंकज , डायरेक्टर , जयपुरिया इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट ने स्वस्थ लाइफस्टाइल से जुड़े विषयों पर चर्चा की।

अनिल परचानी ने बताया की 77 मिलियन लोग आज के समय में डायबिटीज से पीड़ित है । डायबिटीज से शरीर में कई तरह के नुकसान होते हैं और अगर समय रहते सही कदम नहीं उठाए गए तो 2045 तक ये संख्या 77 मिलियन से बढ़कर ये 166 मिलीयन तक जाने का अनुमान लगाया जा रहा है ।व्यायाम न करना एक अस्वस्थ शारीर का मुख्या कारण बताया गया। हर दिन 30 मिनट व्यायाम करने से एक स्वस्थ जीवन जिया जा सकता है। इस मौके पर अनिल से शारीरिक, मानसिक , सामाजिक और अध्यात्मिक स्वास्थ्य की बात की।

नेचुरोपैथी के बारे मे बताते हुए उन्होंने कहा की बीमारी का जड़ है हेल्दी खाना ना खाना । कोरोना काल में नेचुरोपैथी काफी लाभदायक और सफल रही। शरीर को डिटॉक्स करने के तरीके बताएं और कहा कि हफ्ते में एक बर व्रत/फास्ट रखना चाहिए । अर्पित अग्रवाल , वाइस चेयरपर्सन, जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी ने दोनो प्रवक्ताओं का धन्यवाद करते हुए बच्चों को एक स्वस्थ जीवन जीने का सुझाव दिया । अर्पित अग्रवाल ने इस मौके पर अपनी भागदौड़ से भरी जिंदगी में हेल्थ और न्यूट्रिशन को कैसे व्यवस्थित किया है इस बारे में वर्कशॉप मे बताया। IAESTE की हेड नीलाक्षी चतुर्वेदी ने धन्यवाद ज्ञापन किया और कहाँ की हमारी रोज़मर्रा की ज़िन्दगी में ज़रूरी हैं की थोड़ा समय हम अपने लिए निकाले जिस से की हम स्वस्थ और गुणवत्ता जीवन जी सकेंगे |

खबरें और भी हैं...