ऊंची उड़ान:दुनिया में सबसे ज्यादा हमारी महिला पायलट, रीजनल एयरलाइंस में सर्वाधिक

जयपुर6 महीने पहलेलेखक: पूजा शर्मा
  • कॉपी लिंक
भारतीय विमानन कंपनियों में 15% महिलाएं, दुनिया में यह संख्या 5 फीसदी। - Dainik Bhaskar
भारतीय विमानन कंपनियों में 15% महिलाएं, दुनिया में यह संख्या 5 फीसदी।

जेंडर असमानता देश के कई पेशों में है, लेकिन एविएशन में भारतीय महिलाएं आगे हैं। मिनिस्ट्री ऑफ सिविल एविएशन के ताजा आंकड़ों के मुताबिक भारत में दुनिया में सबसे अधिक महिला पायलट्स नियुक्त हैं। नागरिक उड्डयन मंत्रालय में राज्य मंत्री जनरल (सेवानिवृत्त) वीके सिंह ने राज्यसभा में एक सवाल के जवाब में बताया कि देश में कुल 17,726 रजिस्टर्ड पायलट्स हैं। इनमें से 2,764 महिला पायलट हैं। यानी देश में कुल पाइलट्स का 15% फीमेल पायलट हैं।

मार्च 2021 के सरकारी आंकड़ों के मुताबिक भारतीय विमानन कंपनियों में 12.4% महिला पायलट थीं। तब से दिसंबर तक इसमें 3% की बढ़ोतरी हुई। वहीं इंटरनेशनल सोसायटी ऑफ वुमन एयरलाइन पाइलट्स के मुताबिक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कुल पायलट्स की संख्या में महिला पायलट्स की संख्या 5% है। भारत में महिला पायलट्स का प्रतिशत अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया समेत पश्चिमी देशों की तुलना में दोगुना है।

13.9% महिलाएं घरेलू एयरलाइंस में काम कर रहीं
भारत में रीनजल एयरलाइंस में सबसे अधिक महिलाएं हैं। रीजनल एयरलाइंस में 13.9, लॉ कॉस्ट एयरलाइंस में 10.9, मुख्य एयरलाइंस में 12.3 और कार्गो एयरलाइंस में 8.5% महिलाएं हैं। ऑस्ट्रेलिया और कनाडा में रीजनल एयरलाइंस में बतौर पायलट महिलाएं सेवाएं दे रही हैं।

साइंस-टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में महिलाएं
वैश्विक स्तर पर डॉक्टरी पेशे में 44% महिलाएं हैं। 33% महिलाएं एस्ट्रोनॉट्स, 29% वैज्ञानिक, 21% इंजीनियर्स और मात्र 5% महिलाएं ही पायलट हैं।

अवेयरनेस प्रोग्राम्स से बढ़ रही है संख्या
वीके सिंह के मुताबिक एविएशन अवेयरनेस प्रोग्राम्स सबसे बड़ा कारण है। इसमें स्कूल की बच्चियों पर फोकस रहता है। इसके अलावा भी कई कार्यक्रम हैं।