• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Mouboli Aunt Went To Chandigarh From Village After Selling To A Broker In Delhi, The Broker Sold In Jaipur For 51 Thousand Rupees, The Teenager Said To The Police Save Me

जयपुर में 17 साल की किशोरी तीन बार बिकी:मौसी झांसा देकर ओडिशा से दिल्ली लाई, दलाल को बेच कर चंडीगढ़ चली गईं; दलाल ने पहले दिल्ली फिर 51 हजार रुपए में जयपुर में बेचा

जयपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

जयपुर में बच्चों की तस्करी का मामला सामने आया है। ओडिशा की एक 17 साल की किशोरी को मौसी दिल्ली में लेकर आई थी। उसे दलालों ने पहले दिल्ली में दो बार बेचा और इसके बाद बच्ची को जयपुर लाकर एक परिवार को 51 हजार रुपए में बेच दिया। परेशान किशोरी ने पुलिस को खुद फोन कर इसकी जानकारी दी।

पीड़ित ने पुलिस को कहा, ’मैं जवाहर नगर से बोल रही हूं। यहां पर मुझे घर में बंद कर रखा है। मुझे मारते-पीटते हैं और डराते हैं। मुझे गांव में मम्मी के पास जाना है। मुझे बचा लो। इसके बाद पुलिस कुछ ही देर में जवाहर नगर में मकान की तलाश करते हुए पहुंच गई। पुलिस ने बच्ची को बालिका गृह में भेज दिया है। SI वर्षा गोदारा मामले की जांच कर रही हैं।’

फोन आने के बाद 8 मिनट में पहुंची पुलिस
घटना 6 जुलाई की शाम 5.30 बजे की है। ओडिशा की रहने वाली 17 साल की किशोरी ने जयपुर के पुलिस कंट्रोल रूम में फोन किया। उसने डरते हुए मकान में बंद रखने और मारने-पीटने की बात कही। यह बात सुनकर पुलिस अधिकारियों ने तुरंत जवाहर नगर पुलिस को फोन किया। दोबारा उन्हीं नंबरों पर मकान का पता पूछने के लिए फोन किया गया। तब किशोरी ने इतना बताया कि जवाहर नगर के सेक्टर-1 में बत्रा का मकान है। इसके बाद पुलिस की टीम 8 मिनट में ही तलाश करते हुए मकान पर पहुंच गई। वहां किशोरी को बुलाकर पूछताछ की गई। किशोरी ने कहा कि उसे यहां पर नहीं रहना है, वह मां के पास ही जाना चाहती है। जवाहर नगर पुलिस ने उसका कोविड टेस्ट कराया। रिपोर्ट नहीं आने के कारण पहले तो दो दिन के लिए उसी परिवार के पास ही रखा था। बाद में कोविड रिपोर्ट आने पर उसे बालिका गृह भेज दिया।

मुंह बोली मौसी दो महीने पहले दिल्ली लाई
किशोरी ने काउंसिलिंग में पुलिस को बताया कि दो महीने पहले उसकी मुंह बोली मौसी उसे ओडिशा से लेकर दिल्ली आई थी। उसे दिल्ली में काम दिलाने का झांसा दिया था। दिल्ली में अनुज नाम के युवक के हवाले कर खुद चंडीगढ़ चली गई थी। वहां से अनुज ने उसे दिल्ली में प्रकाश नाम के युवक को सौंप दिया। इसके बाद प्रकाश उसे दिल्ली से जयपुर में लेकर आ गया। वह 51 हजार रुपए में उसे अतुल बत्रा के पास छोड़ कर चला गया। यहां पर उसे कमरे में बंद रखा जाने लगा। उससे घर में जबरदस्ती काम कराया जाता था। उसने गांव जाने की बात कही तो उसे डराने-धमकाने लग गए थे।

अब जयपुर पहुंचेगा किशोरी का परिवार
पुलिस ने किशोरी से नाम-पता और परिवार के बारे में पूछताछ की। इसके बाद किशोरी के परिजनों से संपर्क किया। अब किशोरी के परिजन जयपुर आएंगे। इसके बाद ही किशोरी परिजनों के सुपुर्द किया जाएगा। पुलिस ने 9 जुलाई को मुंह बोली बालिका की मौसी अनीता, दलाल अनुज व प्रकाश के अलावा गौरव, अतुल व रुचि के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस कोर्ट में किशोरी के बयान दर्ज कराएगी। इसके बाद ही पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी।

खबरें और भी हैं...