• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Murder Case In Jaipur, Allegation Of The Brother Of The Deceased In The FIR Sister in law, Nephew And Niece Used To Beat Ruthlessly For Get Job In Bank

जयपुर में नौकरी पाने के लिए पति की हत्या!:FIR में मृतक के भाई का आरोप- बेटी को सरकारी नौकरी लगाने के लिए कई महीनों से पति से बेरहमी से मारपीट करती थी भाभी और दोनों बच्चे

जयपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर में अनुकंपा नौकरी पाने के लिए एक बैंक कर्मचारी की हत्या का मामला सामने आया है। - Dainik Bhaskar
जयपुर में अनुकंपा नौकरी पाने के लिए एक बैंक कर्मचारी की हत्या का मामला सामने आया है।

जयपुर में अनुकंपा में सरकारी नौकरी पाने के लिए बैंक में काम करने वाले एक व्यक्ति की हत्या करने का मामला सामने आया है। मौत के बाद पांच दिन बाद मृतक के भाई ने करधनी थाने में रविवार को हत्या का केस दर्ज करवाया है। जिसमें अपनी भाभी, भतीजे व भतीजी पर पीट-पीटकर भाई की हत्या करने का आरोप लगाया है। मारपीट के सबूत भी सौंपे है। केस की जांच थानाप्रभारी राजेश बाफना कर रहे है।

पुलिस के मुताबिक खातीपुरा में गोपालन नगर में रहने वाले जयसिंह ने FIR में बताया कि उनके बड़े भाई शक्ति सिंह (48) झोटवाड़ा में हरनाथपुरा में पत्नी सुमन कंवर, बेटे व बेटी के साथ रहते थे। वह पंजाब नेशनल बैंक में जॉब करते थे। जयसिंह का कहना है कि शादी के बाद से ही बड़े भाई और भाभी में मनमुटाव रहता था। दोनों बच्चों के बड़ा होने के बाद भाभी सुमन कंवर ने बच्चों के साथ मिलकर पति शक्ति सिंह के साथ मारपीट करना शुरु कर दिया।

अक्सर बड़ा भाई जब भी घर आता था, मारपीट से चोट के निशान दिखाता, हम रोते भी, लेकिन कुछ नहीं कर सके
जयसिंह के मुताबिक अक्सर उनका भाई शक्ति सिंह घर आता। तब मारपीट करने की बात करता। वह शरीर पर आई चोट के निशान भी दिखाता था। यह देखकर हमें रोना आता था लेकिन भाभी के बर्ताव की वजह से हम कुछ कर नहीं पाते थे। शक्ति सिंह अंतिम बार पांच दिन पहले 30 अगस्त को शाम करीब 5 बजे भाई और पिता से मिलकर आपबीती बताकर गया था।

उसी दिन रात करीब 9:30 बजे शक्ति सिंह के पड़ौसी ने उनकी बहन को फोन कर बताया कि रात 8:30 बजे वह घर के बाहर बैठे थे। तभी बेटा जबरन अंदर बुलाकर ले गया। वहां अंदर झगड़े की आवाज आने लगी। कुछ देर बाद मां व दोनों बच्चे पड़ोसी ओम की गाड़ी लेकर शक्ति सिंह को अचेत हालत में निजी अस्पताल में ले गए। वहां उसकी बहन भी पहुंच गई। तब वे उसे दूसरे अस्पताल में रैफर कर ले गए। वहां डॉक्टर्स ने शक्ति सिंह को मृत घोषित कर दिया।

विवाद बढ़ने पर SMS अस्पताल में हुआ मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम

हंगामा होने पर पुलिस मौके पर पहुंची। शव को एसएमएस अस्पताल पहुंचाया। वहां मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाया गया। आरोप है कि उसमें भी चोट के निशान होना सामने आया। तब छोटे भाई ने बड़े भाई की पत्नी व दोनों बच्चों के खिलाफ हत्या का आरोप लगाया। जिसमें बताया कि भाभी अपनी बेटी को बैंक में पति की जगह अनुकंपा पर सरकारी नौकरी दिलवाना चाहती थी। ऐसे में साजिश रचकर मारपीट कर मार डाला। पुलिस मामले की जांच कर रही है। मामले में सभी पक्षों के बयान लिए जाएंगे। मेडिकल रिपोर्ट में मौत का कारण भी सामने आना बाकी है। इसके बाद ही कार्रवाई आगे बढ़ेगी।

खबरें और भी हैं...