पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अदृश्य शत्रु...कोरोना:न सांस फूली ना तनाव, 24 घंटे में ही ऑक्सीजन लेवल 58 पहुंचा

जयपुर12 दिन पहलेलेखक: सुरेन्द्र स्वामी
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।
  • बदलते लक्षणों से परेशानी बढ़ी, 2 दिन में नॉर्मल से वेंटिलेटर पर पहुंचे मरीज

कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमित मरीज बिल्कुल पूरी तरह से ठीक दिख रहे हैं और हंसी-खुशी से बातचीत कर रहे हैं। शरीर के अंदर वायरल लोड अधिक होने से फेफड़ों में संक्रमण और उनके खराब होने से आक्सीजन का लेवल लगातार गिर रहा होता। एक लेवल से स्तर नीचे गिरने पर सांस लेने में तकलीफ, कमजोरी, घबराहट, पसीने आना, चक्कर आना और आंखों के सामने अंधेरा छा जाना जैसे लक्षण आते हैं।

हालांकि संक्रमित युवाओं में आक्सीजन स्तर कम होने के बावजूद लक्षण सामने नहीं आ रहे हैं। जांच में आ रहा है आक्सीजन का कितना गिर चुका है। इसे मेडिकल भाषा में हैप्पी हाइपोक्सिया कहा जाता है। खतरनाक यह कि आक्सीजन लेवल गिरने की न तो मरीज या डॉक्टरों को भनक तक नहीं लगती।

केस 1- वैशाली नगर निवासी 30 साल का एक युवक हल्की खांसी-बुखार के साथ अस्पताल में भर्ती हुआ था। ठीक हुआ लेकिन चलने-फिरने में सांस फूलने लगी और कमजोरी हुई तो जांच करी। रिपोर्ट नेगेटिव थी। सीटी-स्कैन में दोनों फेफड़ों में संक्रमण मिला। आक्सीजन का लेवल घटकर 76 फीसदी रह गया। उन्हें पता ही नहीं चला और वेंटीलेटर पर चला गया। दो दिन बाद अस्पताल में ही इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।

केस 2- टोंक रोड निवासी 35 साल की एक महिला को बुखार था। श्वांस लेने में दिक्कत होने पर एसएमएस अस्पताल में दिखाया। दवा लेने के बाद घर पर चली गई। अचानक ही थकान और कमजोरी होने पर निजी अस्पताल में दिखाया। जांच में सेचुरेशन 88 और आक्सीजन प्रेशर 58 पाया। महिला के सास-ससुर को जब डॉक्टर ने बताया कि आक्सीजन का प्रेशर कम हो गया। जिसका मरीज को पता ही नहींं चला।

क्या है ‘हैप्पी हाइपोक्सिया’
ऑक्सीजन की मात्रा शरीर व खून में कम होने से शरीर के अंगों एवं टिश्यू को कम मात्रा में मिलती है। इससे अंग ठीक तरह से काम करना बंद कर देते हैं और खराब होने लगते हैं। ऑक्सीजन लेवल गिरने पर आमतौर पर मरीजों को सांस लेने में तकलीफ महसूस होती है और कई बार तो बेहोशी आ जाती है। ऑक्सीजन स्तर गिरने के बाद भी उन्हें पता नहीं चल रहा है। वे आराम से बातचीत करते होते हैं और मौत के करीब जा रहे होते हैं।

जैसा डॉ.सुधीर भंडारी और डॉ.वीरेन्द्र सिंह ने बताया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

    और पढ़ें