पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पार्क में नोपार्किंग:पार्क में अंडरग्राउंड पार्किंग पर ‘ईगो’ नहीं, नियम विरुद्ध हुआ तो पीछे हटने को तैयार

जयपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सरकार का दावा है कि हम जयपुर को स्मार्ट बनाएंगे, पर यह टूटा डस्टबिन पूरे प्रोजेक्ट के विजन और प्रयासों को बताने के लिए पर्याप्त है। ... हे सरकार, यह किसकी जिम्मेदारी। - Dainik Bhaskar
सरकार का दावा है कि हम जयपुर को स्मार्ट बनाएंगे, पर यह टूटा डस्टबिन पूरे प्रोजेक्ट के विजन और प्रयासों को बताने के लिए पर्याप्त है। ... हे सरकार, यह किसकी जिम्मेदारी।
  • पौंडरिक पार्क में पार्किंग के पक्षधर महेश जोशी अब बोले

हवामहल विधानसभा क्षेत्र के ऐतिहासिक पौंडरिक पार्क में बन रही पार्किंग को लेकर शनिवार को महेश जोशी साफ किया कि पार्क को लेकर हमारा कोई ईगो नहीं है। अगर नियम विरुद्ध पार्क में पार्किंग बन रहा है तो हम इसे वापस ले लेंगे। मसला कायदे कानून का है, इसलिए उन्होंने स्मार्ट सिटी और हेरिटेज निगम सीईओ को भी कायदे कानून को लेकर स्थिति साफ करने को कहा है। साथ ही मामले पर खुद भी एक्सपर्ट और एएजी की राय को आधार बनाने की बात कही। इसके साथ ही जोशी ने विरोध करने वालों को भी नसीहत दी है कि भले ही यह उनका हक है, लेकिन अब चूंकि मसला कोर्ट में चला गया है तो अनावश्यक कोर्ट को प्रभावित ना किया जाए।

जोशी ने कहा कि सरकार का उद्देश्य भेदभाव रहित विकास का है। उन्होंने अफसरों से पहले ही क्षेत्र में ग्रीनरी बढ़ाने के आदेश दिए हुए हैं। इसके लिए हवामहल विधानसभा क्षेत्र का लैंड बैंक भी तैयार करवाया जा रहा है। पार्क जनता के लिए है और पार्किंग का निर्माण भी जनता की सुविधा को ध्यान में रखकर ही कराया जा रहा है।

उन्होंने बीजेपी नेताओं के उस बयान की निंदा की है, जिसमें अनर्गल निजी हित के लिए पार्किंग बनाने की बात कही। जोशी ने दोहराया कि अंडरग्राउंड की बात ही इसीलिए मंजूर हुई थी कि इसमें पार्क का नुकसान नहीं होगा। इस पर भास्कर ने जब उनसे पार्किंग के ऊपर पेड़ नहीं लगने और फिर ‘फोकस एरिया’ बदलने जैसे तर्क रखे तो उन्होंने फिर कहा कि मसला नियम कायदे का है। इसे वह खुद अपने स्तर पर चेक करवा रहे हैं। पार्क को नुकसान पहुंचाने का उनका उद्देश्य नहीं है।

पार्किंग खाली रखने का क्या उद्देश्य? प्राथमिकताएं तय कराना भी जरूरी

शहर के इकलौते सबसे बड़े और ऐतिहासिक बाग में अंडरग्राउंड पार्किंग को लेकर रिटायर्ड जस्टिस, पूर्व चीफ इंजीनियर और विशेषज्ञ अपनी राय स्पष्ट कर चुके हैं। अलबत्ता उन्होंने पार्क में ही पार्किंग बनाने की बात को नाजायज करार दिया है। दूसरा पार्किंग बनाने के साथ ही उसकी उपयोगिता का मसला भी एक बड़ा विषय है।

जैसा कि रामनिवास बाग अंडर टग्राउंड पार्किंग और चौगान स्टेडियम में पूरे नहीं हो पाए। हां, पार्क जरूर बर्बाद हो गए। इसके साथ ही स्मार्ट सिटी के बजट से प्राथमिकताएं तय कर स्मार्ट प्रोजेक्ट का ईश्यू भी है। मसलन दूसरे पॉश और ट्रैफिक वाले एरिया में पार्किंग की जितनी जरूरत है, क्या वह ब्रह्मपुरी क्षेत्र में बन रही इस पार्किंग को लेकर है? इस बारे में जोशी ने कहा कि पार्किंग को लेकर उनके पास मांग आई थी।

इधर बीजेपी के विरोध की रणनीति तेज
भास्कर की ओर से ऐतिहासिक पार्क में पार्किंग बनाने के मसले को उठाने के बाद बीजेपी के कई बड़े नेता इसके विरोध में आ खड़े हुए हैं। इनकी ओर से अब सरकार के खिलाफ विरोध तेज करने की बात कही जा रही है। शनिवार को भी इस संबंध में विधायक कालीचरण सराफ, पूर्व हवामहल विधायक सुरेंद्र पारीक पूर्व महापौर मनोज भारद्वाज ने विरोध की रणनीति पर बातचीत की। इससे पहले सांसद रामचरण बौहरा और दीया कुमारी अपना विरोध जता चुके हैं। मुख्यमंत्री सहित केंद्र के स्मार्ट सिटी अफसरों तक भी पैसे की बर्बादी के मामले बताए गए हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कुछ रचनात्मक तथा सामाजिक कार्यों में आपका अधिकतर समय व्यतीत होगा। मीडिया तथा संपर्क सूत्रों संबंधी गतिविधियों में अपना विशेष ध्यान केंद्रित रखें, आपको कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती हैं। अनुभव...

    और पढ़ें