रेल कर्मियों को राहत:जीएम नहीं, डीआरएम और सीडब्ल्यूएम करेंगे इंटर रेलवे ट्रांसफर

जयपुर4 महीने पहलेलेखक: शिवांग चतुर्वेदी
  • कॉपी लिंक

अब रेल कर्मियों को घर के आसपास पोस्टिंग के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। क्योंकि रेलवे ने प्रक्रिया सरल बनाते हुए, इसके लिए डीआरएम और मुख्य कारखाना प्रबंधक (सीडब्ल्यूएम) को निर्णय लेने के लिए अधिकृत किया है। साथ ही ऐसे मामले जीएम स्तर तक नहीं भेजने के निर्देश भी दिए हैं। यूनियन मंडल अध्यक्ष मुकेश चतुर्वेदी और जोनल संयुक्त सचिव सुभाष पारीक ने बताया रेलवे जोनवार भर्तियां करता है।

ऐसे में राजस्थान (उपरे) के बाहर अन्य जोन में भर्तियां अधिक होने से अभ्यर्थी वहां से आवेदन करता है। परीक्षा में सफलता मिलने पर रेलवे बोर्ड द्वारा उसे नियुक्ति भी उसी राज्य (उपरे) में दे दी जाती है। ऐसे में सेवा नियमों को पूरा करते हुए, जब वह दोबारा अपने जोनल रेलवे में आने के लिए आवेदन करता है, तो जीएम तक जाने और अप्रूवल में समय लगता है। इसे देखते हुए डिप्टी डायरेक्टर (स्थापना) संजय कुमार ने निर्देश जारी किए हैं कि अराजपत्रित कर्मचारियों का गृह जिले में स्थानांतरण आदेश संबंधित मंडल के डीआरएम और कारखाने के सीडब्ल्यूएम द्वारा लिया जा सकता है।

खबरें और भी हैं...