पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Not Only Petrol And Diesel In Rajasthan, Vehicle Registration Is Also Expensive By 4 To 6% Compared To Other Neighboring States

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भास्कर इन्वेस्टिगेशन:राजस्थान में पेट्रोल-डीजल ही नहीं, अन्य पड़ोसी राज्यों के मुकाबले वाहन रजिस्ट्रेशन भी 4 से 6% तक महंगा

जयपुर6 दिन पहलेलेखक: नरेश वशिष्ठ
  • कॉपी लिंक
गाड़ी रखने के शौकीनों के लिए तो राजस्थान में दोहरी मार है। - Dainik Bhaskar
गाड़ी रखने के शौकीनों के लिए तो राजस्थान में दोहरी मार है।
  • असर यहां की 3% गाड़ियां दूसरे राज्यों से रजिस्टर्ड हैं, 20 लाख से महंगी गाड़ियों पर 12.50% सरचार्ज भी
  • हर साल करीब 12 लाख वाहन बिकते हैं, अन्य राज्यों में हर रेट की गाड़ियों पर बराबर टैक्स, यहां स्लैब तय
  • टैक्स कम हों तो अधिक गाड़ियां यहां खरीदी जाएंगी, सरकार को टैक्स भी अधिक मिलेगा

महंगाई महामारी की तरह पैर पसार रही है। डीजल-पेट्रोल, एलपीजी और अति आवश्यक चीजों की कीमतों में भी तेज बढ़ोतरी हुई है। गाड़ी रखने के शौकीनों के लिए तो राजस्थान में दोहरी मार है। पहली, यहां नई गाड़ी पर पड़ोसी राज्यों के मुकाबले दो गुना टैक्स देना पड़ता है, वहीं डीजल-पेट्रोल की कीमतों में भी 8 से 10 रुपए का अंतर है। गुजरात और हरियाणा में पेट्रोल-डीजल की प्राइवेट नंबर वाहनों की कीमतों पर बराबर टैक्स लिया जाता है, जबकि राजस्थान में पेट्रोल की अपेक्षा डीजल के वाहनों पर 2 प्रतिशत अधिक टैक्स लगता है।

टैक्स कम किया जाए तो ज्यादा गाड़ियां यहां रजिस्टर्ड होंगी
सरकार भी पड़ोसी राज्यों के बराबर वाहनों पर टैक्स कर देती है तो लग्जरी कार मालिकों को टैक्स चोरी करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इससे राजस्थान में वाहनों के पंजीकरण की संख्या बढ़ेगी और सरकार को टैक्स में भी फायदा होगा। प्रदेश में हर साल 11 लाख दुपहिया वाहन और 1.57 लाख चौपहिया वाहन बिकते हैं। दूसरे राज्यों के 25 हजार वाहन प्रदेश में चल रहे हैं। प्रदेश में 40 लाख की कार पर 5 लाख 50 हजार का टैक्स बनता है। गुजरात में 2 लाख 50 हजार तो हरियाणा में 4 लाख ही टैक्स लगता है।

टैक्स कम किया जाए तो ज्यादा गाड़ियां यहां रजिस्टर्ड होंगी
सरकार भी पड़ोसी राज्यों के बराबर वाहनों पर टैक्स कर देती है तो लग्जरी कार मालिकों को टैक्स चोरी करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इससे राजस्थान में वाहनों के पंजीकरण की संख्या बढ़ेगी और सरकार को टैक्स में भी फायदा होगा। प्रदेश में हर साल 11 लाख दुपहिया वाहन और 1.57 लाख चौपहिया वाहन बिकते हैं। दूसरे राज्यों के 25 हजार वाहन प्रदेश में चल रहे हैं। प्रदेश में 40 लाख की कार पर 5 लाख 50 हजार का टैक्स बनता है। गुजरात में 2 लाख 50 हजार तो हरियाणा में 4 लाख ही टैक्स लगता है।

किस वाहन पर कितना लगेगा टैक्स
दुपहिया : अगर वाहन की कीमत 75000 रुपए है तो

राजस्थान 6750 रुपए

हरियाणा 3000 रुपए

गुजरात 4500 रुपए

पंजाब 5250 रुपए

टैक्स लगेगा।

कार की कीमत 10 लाख है तो

  • राजस्थान में 112500 रुपए, हरियाणा- 80,000 रुपए,

गुजरात 60,000 रुपए, पंजाब- 90,000 रुपए टैक्स देना पड़ेगा। कार की कीमत 12 लाख है तो राजस्थान में 135000 रुपए, हरियाणा- 96000 रुपए, गुजरात- 72000 रुपए, पंजाब- 108000 रुपए टैक्स

दूसरे राज्यों की स्टडी करेंगे

  • सभी पड़ोसी राज्यों में निर्धारित वाहन टैक्स की कॉपी मंगाकर अफसरों की बैठक में समीक्षा की जाएगी। इसके बाद प्रदेश के हित में फैसला लिया जाएगा। - प्रतापसिंह खाचरियावास, परिवहन मंत्री

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से उत्साह में वृद्धि होगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी विजय हासिल...

और पढ़ें