• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • Now 6 DGs Will Sit In Place Of Four, Yet It Is Difficult For Three ADGs Of 91 Batch To Become DG... 5 IPS Of 92 And 93 Batch Benefit The Most.

डीजी की एक काडर पोस्ट बढ़ने के मायने:अब चार की जगह 6 डीजी बैठेंगे, फिर भी 91 बैच के तीन एडीजी का डीजी बनना मुश्किल... सबसे ज्यादा फायदा 92 व 93 बैच के 5 आईपीएस काे

जयपुर9 महीने पहलेलेखक: राजेन्द्र गाैतम
  • कॉपी लिंक
डीजी का एक पद खाली हाेते ही सीनियॉरिटी के हिसाब से बैच 1990 के आईपीएस एडीजी जंगा श्रीनिवास राव डीजी बनेंगे। - Dainik Bhaskar
डीजी का एक पद खाली हाेते ही सीनियॉरिटी के हिसाब से बैच 1990 के आईपीएस एडीजी जंगा श्रीनिवास राव डीजी बनेंगे।

राज्य सरकार द्वारा डीजी की काडर पाेस्ट दाे की बजाय 3 करने से अब छह डीजी बनाए गए हैं। 6 डीजी बनने के बाद भी वर्तमान परिस्थितियाें में वर्ष 1991 बैच के तीनाें आईपीएस में से एक भी डीजी के पद पर पदाेन्नत नहीं हाे पाएगा। क्याेंकि इस बैच के तीनाें आईपीएस का रिटायरमेंट वर्ष 2023 में है।

तब तक इस बैच के एक भी आईपीएस का नंबर सीनियॉरिटी के हिसाब से टाॅप छह में नहीं आ पाएगा। वर्ष 2023 तक 1990 बैच के आईपीएस ही पदाेन्नत हाेंगे। साथ ही एक काडर पाेस्ट बढ़ने से पांच साल में छह आईपीएस काे डीजी का तमगा लगेगा।

अब पद खाली हाेते ही जंगा श्रीनिवास बनेंगे डीजी

राज्य सरकार ने वर्ष 1989 बैच के तीनाें आईपीएस नीना सिंह, उमेश मिश्रा और भूपेन्द्र दक काे डीजी के पद पर प्रमाेट कर दिया है। अब डीजी पद के लिए 1990 बैच काे प्रमाेट किया जाएगा। इस बैच में तीन आईपीएस जंगा श्रीनिवास राव, रवि प्रकाश मेहरड़ा तथा राजीव शर्मा हैं।

डीजीपी एमएल लाठर काे दाे साल का एक्सटेंशन मिला हुआ है। ऐसे में उनका कार्यकाल नवंबर 2022 तक है। इससे पहले डीजीपी अगर अपना पद छाेड़ते हैं या राज्य सरकार उन्हें अन्य जिम्मेदारी देती है ताे डीजी का एक पद खाली हाेते ही सीनियॉरिटी के हिसाब से बैच 1990 के आईपीएस एडीजी जंगा श्रीनिवास राव डीजी बनेंगे। पद खाली नहीं हाेने की स्थिति में नवंबर 2022 के बाद ही जंगा डीजी बन सकेंगे।

91 बैच के 3 आईपीएस, तीनाें नहीं हो पाएंगे पदोन्नत!

वर्ष 1991 बैच के तीन आईपीएस है। डीसी जैन, ए पाैन्नूचामी और साैरभ श्रीवास्तव। तीनाें ही डीजी के पद पर पदाेन्नत नहीं हाे पाएंगे। डीसी जैन अक्टूबर 2023 में, ए पाैन्नूचामी मई 2023 में तथा साैरभ श्रीवास्तव अप्रैल 2023 में सेवानिवृत्त हाेंगे। इस समय तक डीजी बीएल साेनी ही दिसंबर 2022 में रिटायर हाेंगे।

अगर राज्य सरकार ने बीएल साेनी काे डीजीपी बनाकर दाे साल का एक्सटेंशन दे दिया ताे उनका कार्यकाल दाे साल बढ़ जाएगा। दूसरी स्थिति में पद खाली हाेने पर 90 बैच के दाे आईपीएस रवि प्रकाश मेहरड़ा तथा राजीव शर्मा डीजी के पद पर पदाेन्नत हाेंगे। ऐसी स्थिति में वर्ष 2023 में रिटायर हाेने वाले 91 बैच के तीनाें आईपीएस सीनियॉरिटी के हिसाब से टाॅप छह में नहीं आ पाएंगे।

इसके चलते तीनाें डीजी के पद पर पदाेन्नत नहीं हाे सकेेंगे। मगर राज्य सरकार चाहे ताे डीजी के आठ पद तब बढ़ा सकती है। जिस पर अस्थाई रूप से दाे साल के लिए डीजी बनाया जा सकता है। रिटायर हाेने के साथ ही पद स्वत: ही निरस्त हाे जाएगा।

2024 में 92-93 बैच के 6 में से 5 आईपीएस डीजी पदोन्नत होंगे

डीजी काडर बढ़ाए जाने का सबसे ज्यादा फायदा वर्ष 1992 व 1993 बैच के आईपीएस काे मिलेगा। 92 बैच में तीन आईपीएस राजेश निर्वाण, हेमंत प्रियदर्शी तथा संजय अग्रवाल हैं। वर्ष 1993 बैच के आईपीएस गाेविंद गुप्ता, सुनील दत्त तथा अमृत कलश है।

वर्ष 2024 में 1988, 89 और 90 बैच के पांच आईपीएस यूआर साहू, भूपेन्द्र दक, उमेश मिश्रा, नीना सिंह, जंगा श्रीनिवास राव रिटायर हाेंगे। इसके चलते 92 और 93 बैच के छह में से पांच आईपीएस काे एक साल में ही डीजी के पद पर पदाेन्नत किया जा सकेगा।